उत्तर प्रदेश

विदेशी युवक को भायी भारतीय संस्कृति, लेकर पहुंचा यहाँ बारात

लड़की के पिता योगेंद्र गुप्ता ने बताया कि वैसे तो पुत्री का विवाह नीदरलैंड जाकर भी किया जा सकता था लेकिन वर पक्ष भारतीय संस्कृति से प्रभावित हुए

भारतीय संस्कृति और सभ्यता से प्रभावित यूरोपियन युवक ने वहीं रह रही एक भारतीय लड़की से इस शर्त पर ही शादी की रजामंदी दी कि वह शादी भारत में ही करेगा, वह भी पूरे भारतीय रिवाज के साथ। लड़की पक्ष ने तुरंत अपनी हामी भरी।

लड़का सात समंदर पार करके भारत आया और शनिवार को भारतीय रीति-रिवाज से उन्होंने सात फेरे लिए और नाते रिश्तेदारों ने दूल्हा-दुल्हन को बधाई दी।

हरदोई नगर के मुहल्ला अशराफ टोला निवासी भारत संचार निगम में कार्यरत मनोरमा गुप्ता और योगेंद्र प्रसाद गुप्ता की बेटी शालिनी गुप्ता ने देश का नाम यूरोप तक में ऊंचा किया। शालिनी शुरू से ही पढ़ने में काफी अच्छी थीं। 1999 में वेणी माधव इंटर कालेज में बेस्ट स्टूडेंट का अवॉर्ड मिला था।

शालिनी ने कानपुर में कोचिंग करने के बाद आईआईटी में प्रवेश लिया। कैंपस सेलेक्शन में उन्हें बेंगलुरु में नौकरी मिली। उसी दौरान शालिनी को कंपनी के माध्यम से जर्मनी और कनाडा जाने का मौका मिला, लेकिन इससे वह संतुष्ट नहीं हुईं।

शालिनी ने इसके बाद आरएसएम रोटरडैम स्कूल ऑफ मैनेजमेंट से यूरोप में एमबीए किया। एक वर्षीय कोर्स करने के साथ ही उन्होंने यूरोप में ही 2013 में फाइनैंस कंपनी ऑफ नीदरलैंड यूरोप में जॉइन कर लिया।

यूरोप के ही थोक वान आस और केस वान आस ने भारत की संस्कृति से प्रभावित होकर शालिनी को अपनी बहू के लिए पसंद किया लेकिन शादी करने की शर्त सुनकर लड़की पक्ष वाले हैरान रह गए।

लड़के की शर्त यह थी कि वह भारत में ही शादी करेगा क्योंकि उसे भारतीय कल्चर पसन्द है। लड़के की शर्त सुनकर लड़की वालों को सुखद आश्चर्य हुआ। उनके लिए यह शर्त वरदान से कम नहीं थी। फिर क्या था, सब बातों पर रजामंदी हुई और फिर हरदोई बारात आई।

वर सहित 14 लोग बाराती बनें, खूब नाच-गाना हुआ। शनिवार को गायत्री परिवार के रविकांत त्रिवेदी ने मंत्रोच्चार के साथ शालिनी और सिमोन वान आंस का विवाह संपन्न कराया।

लड़की के पिता योगेंद्र गुप्ता ने बताया कि वैसे तो पुत्री का विवाह नीदरलैंड जाकर भी किया जा सकता था लेकिन वर पक्ष भारतीय संस्कृति से प्रभावित हुए। उनकी मंशा थी कि भारत में आकर भारतीय संस्कृति से कार्यक्रम कराएं। इस शादी की खूब चर्चा हो रही है।

वहीं, दूल्हे का कहना है कि उसकी चाहत थी कि वह किसी भारतीय लड़की से भारत में ही शादी करे क्योंकि भारतीय रीति-रिवाज उसे बहुत पसंद है।आज उसकी यह इच्छा पूरी हुई, जिससे वह बहुत खुश है।

Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *