शांति का अनुभव जिन्दगी में जरूरी: प्रकाश

रायपुर: शांति का अनुभव जिंदगी में जरूरी है । शनिवार को ये बातें ज्ञान प्रकाश द्विवेदी ने पत्रकारवार्ता में कही । उन्होंने आगे कहा कि असली शांति आपके अन्दर है बाहर नही है।

उस शांति तक कैसे पंहुचे? हमारा खुद से सम्पर्क कटा हुआ है ,उस सम्पर्क से जुडऩा है। कोई है जो हमें उस सम्पर्क से जोड़ता है। रावत को संदेश है कि आपके के धर्म, परिवार ,व्यवसाय से कोई संदेश नही है मेंरा संदेश सिर्फ आपसे है। आपके अन्दर जो कुछ है उसे ही आगे लाना है।

किसी को बदलने की बात नही है। जिसकी तुम्हें तलाश है वहा आपके अन्दर है। उसे ही बाहर लाना है। हम सब आशा करते है उम्मीद करते है , हम मुमकिन कर सकते है, जो नामुमकिन है। हम सिर्फ सुनाते है, सिर्फ शांति चाहिए, अनुभाव करना चाहते है, उसे संभव बना सकते है।

जिस चेहरे को तुम देखना चाहते हो वह तुम्हारे पास है ,लेकिन आप उसे देख नही सकते , आप को नए चेहरे की जरूरत नही है। अपने चेहरे को देखने के लिए दर्पण चाहिए,इसका अहसास होने पर तुम मनुष्य हो और शांति ही ऐसी चीज है , जिसे आपको अनुभव करना है। दिवेदी ने कहा कि लगभग सौ देशो में अबतक अपना संदेश दे चुके है।

भारत के प्रमुख जेलों में उनका कार्यक्रम हुआ है। एक प्रश्न के उत्तर में उन्होंने ने कहा कि भारत में लगभग दस हजार सदस्य है। रायपुर में संख्या अस्सी है। 

advt
Back to top button