छत्तीसगढ़

छात्र-छात्राओं का कॅरियर बनाएगी दिशा एक्सप्रेस

रायपुर : हाई स्कूल और हायर सेकेण्डरी स्कूल के छात्र-छात्राएं पढ़ाई के दौरान ही कॅरियर बना सके इसके लिए जिला प्रशासन ने पहल करते हुए दिशा एक्सप्रेस शुरू की है। इसके तहत जिले के सभी शासकीय हाई स्कूल और हायर सेकेण्डरी स्कूलों के छात्र-छात्राओं को रायपुर और नया रायपुर स्थित राष्ट्रीय स्तर के उच्च शैक्षणिक संस्थानों में मोटिवेशनल टूर कराया जा रहा है। 8 सितंबर से शुरू दिशा एक्सप्रेस के तहत छात्रों को 9 संस्थानों की गतिविधि, प्रवेश परीक्षा, उपलब्ध सीट, राज्य के छात्रों के लिए सुविधाएं आदि के बारें में बताया गया। गत दिवस शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय अभनपुर और शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक शाला नयापारा राजिम की छात्राओं को इन संस्थानों का भम्रण कराया गया।
कलेक्टर ओपी चौधरी ने कहा कि दिशा एक्सप्रेस नाम से दो बसें संचालित की जा रही है। इनमें ग्रामीण क्षेत्र के 9वीं से 12वीं तक के 150 विद्यार्थियों को प्रतिदिन रायपुर और नया रायपुर स्थित हिदायतुल्ला नेशनल लॉ यूनिवसिर्टी (एचएनएलयू), डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ इंफारमेशन टेक्नालॉजी (आईआईआईटी), इण्डियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नालॉजी (आईआईटी), इण्डियन इंस्टीट्यूट ऑफ मेनेजमैंट(आईआईएम), नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नालॉजी (एनआईटी), ऑल इण्डिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साईंसेज (एम्स), पं जवाहर लाल नेहरू स्मृति शासकीय मेडिकल कॉलेज रायपुर, कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता एवं जनसंचार विश्वविद्यालय रायपुर और सेन्ट्रल लाइब्रेरी रायुपर का भ्रमण कराया जा रहा है, ताकि ग्रामीण छात्र-छात्राएं भी अपने भविष्य को एक नया आयाम दे सके।
दिशा एक्सप्रेस में शासकीय हाई स्कूल और हायर सेकेण्डरी स्कूलों के करीब 1 लाख छात्र-छात्राओं को मोटिवेशनल टूर कराया जाएगा। प्रथम चरण में हायर सेकेण्डरी के छात्रों को भ्रमण कराया जा रहा है अगले चरण में हाई स्कूल के बच्चों को इन संस्थानों में विजिट करेंगे। छात्रों को संस्थानों के बारे में समुचित जानकारी देने के लिए सभी संस्थानों में एक-एक नोडल अधिकारी भी बनाए गए है। भ्रमण के दौरान छात्रों के लिए भोजन की भी व्यवस्था की गई है।

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.