Facebook 1 अक्टूबर को लॉन्च कर रहा नया फीचर, रक्त दान करने में होगा मददगार

भारत में रोगियों को रक्त की जरूरत होने पर उन्हें या उनके परिजन को खुद ही रक्तदाताओं और ब्लड बैंक से संपर्क करना पड़ता है। इस जतन में उन्हें कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है और कई बार निराशा मिलती है। इस स्थिति को देखते हुए फेसबुक एक नए फीचर की शुरुआत कर रहा है जिससे जरूरतमंद लोग और ब्लड बैंक आसानी से रक्तदाताओं से संपर्क साध सकते हैं। इस समय कई संस्थाएं रक्तदान को प्रोत्साहित करने में लगी हैं। फेसबुक का सहारा मिलने पर उनका काम और आसान हो सकता है।

फेसबुक एक अक्तूबर को ‘राष्ट्रीय रक्तदाता दिवस’ के मौके पर इस फीचर की शुरुआत करने जा रहा है। इसमें फेसबुक अपने उपयोगकर्ताओं के न्यूज फीड पर एक संदेश भी दिखाएगा और उन्हें रक्तदान करने के लिए पंजीकरण कराने को प्रोत्साहित करेगा। उन्हें अपने ब्लड ग्रुप की जानकारी देने का आग्रह भी किया जाएगा और यह जानकारी साझा करने को भी कहा जाएगा कि क्या उन्होंने पहले कभी रक्तदान किया है।

रक्त के जरूरतमंद लोग एक विशेष तरह की पोस्ट फेसबुक पर डाल सकेंगे जिसमें जरूरी ब्लड ग्रुप, अस्पताल का नाम और संबंधित व्यक्ति का फोन नंबर आदि साझा कर सकते हैं। फेसबुक दक्षिण एशिया के कार्यक्रम प्रमुख रितेश मेहता ने बताया, भारत में अन्य देशों की तरह रोगियों के लिए रक्त की कमी रहती है। कई बार हमने देखा है कि लोग रक्तदान करने वालों की तलाश में फेसबुक और वाट्सऐप जैसे प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल करते हैं। उन्होंने कहा कि हर सप्ताह हजारों लोग फेसबुक पर रक्तदाताओं की तलाश करते हैं इसलिए हमने यह नया टूल रक्तदाताओं और जरूरतमंद दोनों को ही आपस में जोड़ने के मकसद से बनाया है।

फेसबुक प्रोडक्ट मैनेजर (स्वास्थ्य) हेमा बुद्धराजू ने कहा कि रक्तदाताओं की समस्त जानकारी गोपनीय रहेगी और अगर वे चाहेंगे तो उसी श्रेणी में सार्वजनिक रहेगी। उन्होंने बताया कि एंड्रॉयड मोबाइल प्लेटफॉर्म पर भी यह फीचर उपलब्ध होगा और भारत में पहली बार इसकी शुरुआत की जा रही है। फेसबुक के इस कदम का रोटरी ब्लड बैंक, एनटीआर ट्रस्ट और सार्थक प्रयास जैसी संस्थाओं ने स्वागत किया जो रक्तदान के क्षेत्र में काम कर रही हैं।

एक अक्तूबर से शुरू होगा यह फीचर

’इसमें फेसबुक अपने उपयोगकर्ताओं के न्यूज फीड पर एक संदेश भी दिखाएगा और उन्हें रक्तदान करने के लिए पंजीकरण कराने को प्रोत्साहित करेगा। उन्हें अपने ब्लड ग्रुप की जानकारी देने का आग्रह भी किया जाएगा और यह जानकारी साझा करने को भी कहा जाएगा कि क्या उन्होंने पहले कभी रक्तदान किया है। ’जरूरतमंद लोग एक विशेष तरह की पोस्ट डाल सकेंगे जिसमें जरूरी ब्लड ग्रुप, अस्पताल का नाम और संबंधित व्यक्ति का फोन नंबर आदि साझा कर सकते हैं।
’रक्तदाताओं की समस्त जानकारी गोपनीय रहेगी और अगर वे चाहेंगे तो उसी श्रेणी में सार्वजनिक रहेगी। एंड्रॉयड मोबाइल प्लेटफॉर्म पर भी यह फीचर उपलब्ध होगा और भारत में पहली बार इसकी शुरुआत की जा रही है।

Back to top button