मनरेगा में हुआ फर्जी बिल से करोड़ो का घोटाला, जनपद सदस्य करेंगे मुख्यमंत्री से शिकायत

छुरा: गरियाबंद जिला के छुरा जनपद पंचायत मनरेगा शाखा के अधिकारी एवम कर्मचारी व सरपंच सचिव की मिलीभगत से भ्रष्टाचार करने के लिए मैटेरियल सप्लायर का बिल अपने चहेतों से बनवा कर लाखों रुपए का भुगतान ऐसे लोगों को किया जिनका कोई फर्म नहीं है। पैसा कमाने का नया जरिया अपनाते हुए फर्जी फर्म के नाम पर चेक काट दिया गया है।

बिना टिन नंबर के बिल पास

मनरेगा के अनुसार पाँच हजार से अधिक का बिल बिना टिन नंबर वाला होने पर भुगतान नहीं किया जाता है। मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत छुरा के साथ मनरेगा शाखा के लेखापाल कार्यक्रम अधिकारी भी शासन के नियम को नजरअंदाज कर बिना टिन नंबर के बिल पास कर बिल भुगतान कर दिया जब मंगा के कार्यों में भ्रष्टाचार करने के लिए नियम कानून को ताक में रखकर जमकर भ्रष्टाचार किया गया है।

बैंक के नाम से करोडो़ रुपयों का भुगतान

जिसको लेकर जनपद पंचायत छुरा की सामान्य प्रशासन बैठक में महात्मा गांधी रोजगार गारंटी योजना अंतर्गत विगत वर्ष 2015 -16 से वर्ष 2018 -19 तक सामाग्री भुगतान में टेंडर नाम की जगह भारतीय स्टेट बैंक, आईडीबीआई बैंक, देना बैंक तथा पंजाब नेशनल बैंक के नाम से करोडो़ रुपयों का भुगतान किया गया है जबकि नियमानुसार वेंडर बैंक नहीं होता है।

रिश्तेदारों को किया गया पैसा ट्रांसफर

जिसकी आड़ में अपने व अपने परिचितों एवं सरपंच/सचिवों के रिश्तेदारों को पैसा ट्रांसफर किया गया है। जिसकी जांच के लिए 1 माह पूर्व हमारे सदस्यों द्वारा दिया गया है जिसकी जांच नहीं कराया गया है इसलिए फिर से जांच हेतु प्रस्ताव बैठक में पारित किया गया है।

फर्म एवं प्रोपराइटर को पैसा ट्रांसफर ना कर अन्य व्यक्ति को भुगतान किया गया है। जनपद पंचायत छुरा के जांच रिपोर्ट सरपंचों की शिकायत के आधार पर जांच रिपोर्ट जिला पंचायत एवं अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) गरियाबंद को प्रेषित किये जाने के बाद भी कोई कार्यवाही नहीं होने के कारण सदस्यों द्वारा नाराजगी व्यक्त किया गया है।

जांच रिपोर्ट ग्राम पंचायत टेंगनाबासा, जरगांव, पिपरहट्ठा, रानी परतेवा एवं अन्य पंचायत जनपद सदस्यों द्वारा मनरेगा अंतर्गत किसी भी जानकारी या दस्तावेज मांगने पर वर्तमान में कार्यक्रम अधिकारी रमेश कंवर के द्वारा दस्तावेज उपलब्ध नहीं होना तथा पूर्व में पदस्थ अधिकारी /कर्मचारी के ऊपर दोषा रोपण किया जाता है उनके द्वारा सारे दस्तावेज किया गया है।

सदस्यों द्वारा उक्त संबंध में माननीय कलेक्टर के समक्ष शिकायत किया गया है कि वास्तविकता की जांच कर संबंधित अधिकारी दोषी के ऊपर कार्यवाही किया जावे। वर्तमान कार्यक्रम अधिकारी रमेश कुमार के द्वारा संतोषजनक जवाब नहीं दिया जाता है व उनके द्वारा पूर्व में पदस्थ अधिकारी के ऊपर दोषारोपण किया जाता है।

ग्राम फिंगेश्वरी में शाला समिति एवं प्रधान पाठक के पदस्य भृत्य तोमलेस दीवान को हटाने का शिकायत प्राप्त हुआ था जिस की कार्यवाही हेतु विकासखंड शिक्षा अधिकारी को उक्त भृत्य को अन्यंत्र स्थानांतरण हेतु प्रस्ताव कर प्रषित किया गया है। सामान्य प्रशासन सभा की बैठक में धनेश्वरी (अध्यक्ष ), अवध राम साहू (उपाध्यक्ष), डेमनप्रसाद सिन्हा (सभापति ), टीकमचंद साहू (सभापति), रिखीराम यादव (सभापति), नारायण ठाकुर (सभापति), पुष्पाध्रुव(सभापति) प्रेम साहु (सभापति), नारदकुमार मांझी(मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत छुरा) मुख्य रूप से उपस्थित रहें।

Back to top button