फर्जी क्राइम ब्रांच अधिकारी गिरफ्तार, नौकरी लगाने के नाम पर कई लोगों से की ठगी

मनराखन ठाकुर

महासमुंद।

थाना बसना में प्रार्थिया रितिका (बदला हुआ नाम) ने रिपोर्ट दर्ज कराया कि केरल राज्य वर्तमान रायपुर का रहने वाला बेन्जामीन मैथ्यूज पिता फिलीपोज मैथ्यूज प्रार्थिया को फेसबुक के माध्यम से फ्रैंड रिक्वेस्ट भेज करके दोस्ती किया और अपने आप को रायपुर क्राईम ब्रांच का वरिष्ठ अधिकारी बताकर लगातार बातचीत करते रहा व फेसबुक प्रोफाईल में भी साइबर एक्सपर्ट व पुलिस वर्दी में फोटो लगाकर रखा था।

इसी दौरान बेन्जामीन मैथ्यूज द्वारा प्रार्थिया को अपने प्रेम में फंसाकर शादी का झांसा देकर कई बार शारीरिक संबंध बनाया एवं प्रार्थिया को विश्वास दिलाने हेतु पुलिस अधिकारी की वर्दी पहना हुआ अपना फोटो भेजा।

इसी दौरान प्रार्थिया द्वारा शादी करने हेतु बोलने पर बार-बार टालते हुये बाद में करनेंगे कहता रहा। इस प्रकार से प्रार्थिया को पूरी तरह अपने झांसे में ले करके उनका कई बार शारीरिक शोषण किया और प्रार्थिया के एटीएम कार्ड को अपने पास रख करके प्रार्थिया के पैसे निकालते रहा एवं प्रार्थिया के साथ हैदराबाद, रायपुर, भिलाई, रांची, विशाखापटनम, उत्तर प्रदेश भी गये और बहुत सारे लोगों से मिला।

जब लोगों से वह मिलता था तो प्रार्थिया को कमरे से बाहर कर अकेले में गुप्तगु करता था। इसी दौरान प्रार्थिया के घर वालो व दोस्तों को शक होने पर पता किये तो पता चला कि बेन्जामीन मैथ्यूज नाम को रायपुर क्राईम ब्रांच में कोई भी अधिकारी काम नही करता है व फर्जी पुलिस अधिकारी बन करके म0प्र0 इंदौर में भी एक लड़की से शादी किया है।

उसके अलावा केरला में जहाॅ यह रहने वाला है वहा एक अलग शादी किया है व रायपुर में भी एक लड़की से शादी किया हुआ है। हैदराबाद, रायपुर, भिलाई, रांची, विशाखापटनम, उत्तर प्रदेश जा करके बहुत सारे लोगो को पुलिस अधिकारी बनकर मिला व पुलिस विभाग में सीआईएसएफ विभाग व नारकोटिक्स विभाग में नौकरी लगाने के नाम पर लाखों रूपयें की ठगी किया है।

जिस संबंध में महाराष्ट्र नागपुर में हैदराबाद में व आगरा व मद्रास व केरल के किसी जिलें में भी इसके नाम से अपराध पंजीबद्ध है। प्रार्थिया द्वारा विरोध करने पर बेन्जामीन मैथ्यूज द्वारा प्रार्थिया के साथ किसी रूम में बनायें गये अश्लील विड़ियों एवं फोटोग्राफस को सोशल मिडिया में वायरल कर दिया गया। प्रार्थिया द्वारा रिपोर्ट दर्ज कराये जाने पर बेन्जामीन मैथ्यूज के संबंध में थाना बसना द्वारा पता तलाश किया गया जो रायपुर माना बस्ती के धनेली गांव में एक ठेकेदार के यहा मिला।

पता करने पर पता चला वहा सुपरवाईजरी का काम करता है। पुलिस टीम द्वारा पूछताछ करने पर बैन्जामीन मैथ्यूज द्वारा सभी बातो को स्वीकार किया व फर्जी पुलिस अधिकारी बनकर दीगर राज्यों में पुलिस विभाग, सीआईएसएफ विभाग, वन विभागों में नौकरी लगाने में नाम पर बहुत से लोगो से लाख की ठगी किया है एवं तीन महिलाओं से शादी की बात भी स्वीकार किया गया।

आरोपी के कमरे की तलाशी लेने पर 25-30 नग विभिन्न कम्पनियों के सीम कार्ड, मेमोरी कार्ड, पेन ड्राइव, पुलिस विभाग व अन्य विभागों के बहुत सारे फर्जी पत्र, व स्वयं के नाम के चार अलग-अलग प्रकार के समाचार पत्रों के प्रेस कार्ड, राजनैतिक पार्टी के फर्जी कार्ड, फर्जी मैडल्स, 05 नग अलग-अलग बैंको का एटीएम कार्ड, 08 नग अलग-अलग बैंको के पासबुक, वर्दी में ली हुई फोटो मिली।

जिसपर से आरोपी को गिरफ्तार किया गया व थाना में अप0क्र0 27/19 धारा 420,376 भादवि0 67ए आई.टी. एक्ट के तहत अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। यह सम्पूर्ण कार्यवाही पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह के निर्देशन में अति0 पुलिस अधीक्षक श्री वेदव्रत सिरमौर एवं अनु0अधिकारी (पु) सरायपाली श्री राजीव शर्मा के मार्गदर्शन में बसना थाना प्रभारी शरद ताम्रकार, उनि0 हेमलाल नाग, सायबर प्रभारी संजय सिंह राजपूत, आर0 अजय जांगड़े, रवि यादव द्वारा की गई।

1
Back to top button