फुलेश्वरी सिंह के बढ़ते जनाधार और धुआंधार जनसंपर्क से बौखलाएं लोगों ने किया षड्यंत्र

रोशन सोनी

सरगुजा।

जिला पंचायत सरगुजा अध्यक्ष फुलेश्वरी सिंह पैकरा को कथित लोगों द्वारा बदनाम करने की कोशिश की जा रही है। फुलेश्वरी सिंह ने आरोप लगाया है कि उनके विरोधी नेतागण द्वारा उन्हें बदनाम करने के लिए लुंड्रा विधानसभा में वॉल पेंटिंग के द्वारा ऐसा भ्रम फैलाया जा रहा है .

जैसे कि वह लुंड्रा विधानसभा चुनाव के लिए नामांकित हो चुकी हैं। जबकि यह सच नहीं है। साथ ही साथ इस भ्रम से भाजपा के बड़े नेताओं में एक गलत संदेश पहुंच रहा है।

फुलेश्वरी सिंह पैकरा का कहना है कि मेरे राजनीतिक छवि को धूमिल करने के लिए कुछ लोगों के द्वारा यह गलत बातें फैलाई जा रही हैं जिसके कारण भाजपा में उनकी छवि को खराब किया जा सके।

फुलेशवरी सिंह ने बताया वें 18 वर्षों से निर्वाचित जनप्रतिनिधि के रूप में जनता को अपनी सेवाएँ दे रही है और उन्हे भलीभाँति ज्ञात है कि चुनाव में प्रत्याशी की घोषणा होने के पश्चात ही जनता से वोट माँगने का निवेदन प्रत्याशी के नाम के साथ प्रचार-प्रसार के माध्यम से किया जाता है।

दीवारों में लिखे ये नारे जब सोशल मीडिया में वायरल होने लगा तो सियासी महकमे में खलबली मच गई ।
ज्यादातर लोग यह सोचने लग गए कि इन्हें पार्टी ने इन्हें अभी से हरी झंडी दे दिया और ये वाल पेंटिन्ग चुनाव प्रचार का हिस्सा है।

लेकिन अब यह मामला कुछ और नजर आ रहा है। फुलेश्वरी देवी भाजपा मंडल अध्यक्ष पद पर रहने के पश्चात सरपंच बनी।

सरपंच बनने के बाद ये दो बार जिला पंचायत सदस्य रही फिर जिला पंचायत अध्यक्ष के पद पर पदस्थ है।
ज्ञात हो कि फुलेश्वरी सिंह लुंड्रा विधानसभा की सशक्त दावेदार है और सरगुजा जिले की तेजतर्रार सक्रिय महिला नेता है।

Back to top button