अपने धान के फसलों में भूरा माहू व लकवा रोग को लेकर किसान काफी परेशान

फसलों को बचाने में ज्यादातर किटनाशक दवाईयों का असर भी बेअसर

खल्लारी: क्षेत्र के किसानों के लिए इस बार धान की फसल को सुरक्षित बचाना चुनौती भरा काम हो गया है। पहले सूखा, फिर भारी बारिश और अब कीट प्रकोप ने किसानों को आर्थिक रूप से कमजोर कर दिया है।

ऐसा ही कुछ मामला छत्तीसगढ़ के खल्लारी समीपस्थ ग्राम सिंघी से आया है जहां के किसान अपने फसलों में भुरा माहू व लकवा रोग को लेकर काफी परेशान है, जो फसलों को बर्बाद कर रहे हैं।

किसान अपने फसलों को भुरा माहू व लकवा रोग से बचाने काफी मशक्कत कर रहे हैं फसलों को बचाने में ज्यादातर किटनाशक दवाईयों का असर भी बेअसर साबित हो रहा है। जिसके चलते किसान किसान बर्बादी के कगार पर है।

Back to top button