छत्तीसगढ़

फसल का अवशेष जला रहे किसान, अधिकारियों के पास नहीं समझाईस देने की फुर्सत

राजशेखर नायर:

नगरी: वातावरण में प्रदुषण का स्तर नियन्त्रण में रखने राष्ट्रीय हरित प्रधिकारण ने फसल अवशेष को ￰जलाने पर प्रतिबंध लगाने के साथ इसे दंडनीय अपराध माना है, फसल अवशेष जलाते पकड़े जाने पर 500 से 15 हजार रुपये तक का जुर्माना वसूलने का प्रावधान रखा है पर इन सब के बावजूद किसान फसल अवशेष जला रहे है और कृषि विभाग के अधिकारियों को किसानो को समझाईस देने की फुर्सत ही नहीं है।

क्षेत्र में धान की फसल कटाई कार्य चल रहा है, कटाई के बद बची हुई अवशेष ठिकाने लगाने कई किसान अवशेषों को जला रहे है। जिसकी वजह से वातावरण प्रदूषित रहा है साथ है जमीन की उर्वराशक्ति पर भी असर पड़ती है, मिट्टी बंजर हो जाती है।

कृषिविभाग के अधिकारी किसानो को इसके दुष्परिणाम के बारे मे जानकारी नहीं दे रहे है न ही अवशेष जला रहे किसानों पर किसी भी तरह की कार्यवाही ही की जा रही है।

जाधव – कृषि विभाग – हम किसानो को इस सम्बन्ध में समझाईस देते है। इसके बाद भी कोई किसान ऐसा करता पाया जायेगा तो उसकी जानकारी तहसीलदार को दी जायेगी।

Tags
Back to top button