जैजैपुर में किसान परेशान, आधी रात से बैक के सामने लंबी कतारों में लगे

किसानों लोग का पासबुक तितर-बितर पड़ा हुआ मिला किसी किसान को अपना पासबुक नहीं मिला जिससे वह परेशान हो रहे हैं।

जैजैपुर।

जिला सहकारी केंद्रीय मर्यादित बैंक जैजैपुर में किसान लोग आधी रात से अपनी राशि लेने के लिए लाइन में लगे हुए हैं। जबकि यहां पर लोग जो पहले आता है वह पहले जमा करने के बाद उसके ऊपर पर कर खते जाते हैं।

जब 11 बजे जिला सरकारी केन्दीय बैंक खुलता है तो वहां के कर्मचारी किसानों के पास बुक को ले जाकर केसीअर को जमा करते हैं लेकिन अब यह देखने में आ रहा है कि यहां पर किसानों लोग का पासबुक तितर-बितर पड़ा हुआ मिला किसी किसान को अपना पासबुक नहीं मिला जिससे वह परेशान हो रहे हैं।

किसान लोगों ने यह बताया कि एक बार बैंक आने पर हमें अपनी गाढ़ी कमाई राशि धान का नहीं मिल पा रहा है वहीं पर हमें अनेकों बार बैंक का चक्कर काटना पड़ रहा है जबकि आए कृषक लोगों का कहना है कि जो व्यापारी वर्ग के हैं।

उन्हें यहां के शाखा प्रबंधक के द्वारा लाखों रुपए का भुगतान एवं 50000 से ऊपर का भुगतान किया जाता है। जबकि हम लोगों को आज के दिन में 25 हजार दिया जा रहा है।

हम लोगों के साथ पक्षपातपूर्ण रवैया यहां के प्रबंधक अपना रहे हैं जो व्यक्ति लाइन लगाकर खड़ा भी नहीं होता और सीधे बैंक के प्रबघक से सॉठ गॉठ होने के नाते उन्हें तुरंत राशि उपलब्ध होने की भी जानकारी लोगों ने बताया यहां पर धान की राशि के लिए लंबे लाइन लगाना पड़ रहा है।

इस तरह से देखा जाए तो व्यापारी एवं खेतिहर मजदूर किसान के साथ बैंक के अधिकारी एवं कर्मचारी पक्षपातपूर्ण रवैया अपना रहे हैं। वहीं पर महेत्त लाल एवं चंडी लाल ने जानकारी मे बताया कि आज हम लोगों को केवल 25000 बैंक से मिल रहा है और जबकि दूसरे दिन

यह विडंबना है कि आज हमें लंबी लाइन में लेना पड़ रहा है। काऊन्टर की कमी होने से अनेकों जगह लंबी लाइन देखने को मिला प्रभारी शाखा प्रबंधक अशोक कुमार का कहना है कि यहां पर 25000 हर पासबुक में दिया जा रहा है ना तो यहां पर पासबुक बिखरा पड़ा हुआ है।

लेकिन जब हमारे संवाददाता ने देखा तो पासबुक बाहर में पड़ा हुआ था कोई किसी का पासबुक ले जा रहा था उसे देख रेख करने वाला कोई भी जिला सहकारी बैंक का कर्मचारी नहीं था जिनसे बैंक में राशि लेने वाले काफी चिंतित नजर आ रहे थे।

1
Back to top button