छत्तीसगढ़

आजीविका चलाने में दिक्कतों का सामना करने वाले किसानों के लिए किसान पेंशन योजना शुरू

60 वर्ष से अधिक आयु के कृषकों को प्रतिमाह एक हजार रूपए

मनोज मिश्रा

महासमुंद।

राज्य शासन के जन घोषणा पत्र के बिन्दु क्रमांक 17.2 के अनुसार कृषि विभाग द्वारा किसान पेंशन के तहत जिले में ऐसे कृषक जो कि उम्रदराज होने के कारण कृषि कार्य करने में सक्षम नही है एवं आजीविका चलाने में दिक्कतों का सामना कर रहे हैं, ऐसे सभी 60 वर्ष से अधिक आयु के कृषकों को एक हजार रूपए प्रतिमाह एवं 75 वर्ष से अधिक आयु के किसानों को एक हजार पांच सौ रूपए प्रति माह पेंशन देने की घोषणा राज्य शासन द्वारा की गई है।

कृषि विभाग के उप संचालक व्ही.पी चौबे ने इस संबंध में स्पष्ट किया है कि कृषि विभाग द्वारा कृषक की श्रेणी में आने वाले पात्र कृषकों को ही किसान पेंशन का लाभ दिया जाएगा। इसके लिए पात्र कृषक का नाम, पिता का नाम, ग्राम, विकासखंड, बैंक खाता नम्बर, बैंक का नाम एवं आई.एफ.एस.सी.कोड सहित, आधार कार्ड की छायाप्रति यदि आधार कार्ड में जन्मतिथि स्पष्ट रूप से दिखाई नही दे रहा हो, तो वे जन्मतिथि का कोई प्रमाण दिखाना आवश्यक होगा।

उन्होंने बताया कि इसके साथ ही कृषक के खेत का रकबा, खसरा नम्बर सहित ऋण पुस्तिका की छायाप्रति भी उपलब्ध कराना होगा एवं कृषि के अतिरिक्त आय के स्त्रोत के अन्य विवरण भी उपलब्ध कराना होगा। उन्होंने जिले के पात्र सभी कृषक अपने क्षेत्र के ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी, कृषक मित्र से संपर्क कर सभी दस्तावेज 10 दिवस के भीतर उन्हें तत्काल उपलब्ध कराने की अपील की है।

इसके अलावा विकासखंड स्तर पर वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी कार्यालय महासमुंद, बागबाहरा, पिथौरा, बसना, सरायपाली एवं अनुविभागीय कृषि अधिकारी महासमुंद, सरायपाली के कार्यालय में दस्तावेज कार्यालयीन समय में जमा कर सकते है।

Tags
Back to top button