छत्तीसगढ़

मोदी के नए कृषि विधेयक आने से किसान ठगा जाएगा- डॉ. लक्ष्मी ध्रुव

डॉ लक्ष्मी ध्रुव ने मोदी सरकार के नए कृषि विधेयक के विषय मे कहा

नगरी: उपाध्यक्ष मध्य क्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण सिहावा विधायक डॉ लक्ष्मी ध्रुव ने मोदी सरकार के नए कृषि विधेयक के विषय मे कहा कि भूपेश सरकार आने से पहले छत्तीसगढ़ मे किसानों की स्थिति अच्छी नही थी,किसानों के ऊपर भाजपा ने डंडे बरसाया किसान काफी दुःखी थे इस दुःख को छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अंतर मन से समझा एवं घोषणा पत्र में किये गए वादों को पूरा करते हुवे धान का समर्थन मूल्य 2500 रुपये,किसानों का कर्जा माफ जैसे किसान हितैषी फैसले लिए जिससे आज प्रदेश का किसान ख़ुशहाली से जीवन जी रहा है।

लेकिन हाल ही मे केंद्र सरकार ने किसानों से सम्बंधित 3 विधेयक संसद में  पास होने रखा है जिससे कोई भी किसान खुश नही है हरियाणा, पंजाब, राजस्थान, छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश ,उत्तरप्रदेश जैसे राज्यो के किसान इस बिल के विरोध में रोड पर आकर प्रदर्शन कर रहे है।

डॉ. लक्ष्मी ध्रुव ने  आरोप लगाते हुवे कहा कि भाजपा सरकार खेती को उद्योगपतियों के हवाले करने के प्रयास मे जुटी हुई है मोदी सरकार इन तीन कृषि विधेयक से कृषि मंडी एवं समर्थन मूल्य को खत्म करने के लिए एक देश एक बाजार नीति के जरिये भाजपा सरकार किसानों की आजादी छिनकर कॉर्पोरेट जगत को बाजार सौपने जा रही है जिससे किसान कंगाल हो जाएगा।

यह विधेयक साफतौर पर किसानी मे सुधार लाने के बहाने कृषि को किसानों के हाथों से छीनने का षड़यंत्रकारी और किसान विरोधी नीति है जिसे भाजपा कानूनी दर्जा देने का जाल बिछा रही है ।

विधेयक का संसद के दोनों सदनों में जमकर विरोध हुआ है ,पूरे देश मे विभिन्न किसान संगठन भी इस विधेयक का विरोध कर रही है भाजपा सरकार ने किसी भी किसान संगठन से इस विधेयक के विषय में चर्चा भी नही की यह विधेयक जबरदस्ती किसानों के ऊपर थोपा जा रहा है।

भाजपा सरकार खेती को तबाह करने के प्रयास में लगी हुई है आज कोरोना काल के चलते मौका मिलते ही विधेयक पेश किया गया है ताकि किसानों द्वारा इस बिल के विरोध को आसानी से दबाया जा सके यह बिल इससे पहले कई विकसित देशों जैसे अमेरिका ,कनाडा मे भी यह कृषि विधेयक फैल हो चूका है मोदी द्वारा इस फैल हो चुके कृषि बिल को भारत में लागू किया जा रहा है,इससे पहले भी मोदी सरकार ने जी एस टी,नोटबन्दी जैसे काले कानून से देश की जनता को ठगा है,मे इस किसान विरोधी इस कृषि विधेयक का पुरजोर विरोध करती हूं ।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button