सी-विजिल से आ रही शिकायतों का तेजी से हो रहा निराकरण

मनीष शर्मा :

मुंगेली :

भारत निर्वाचन आयोग के सी-विजिल एप (सिटिजन विजिल एप) पर लोगों से मिल रही शिकायतों पर तेजी से कार्रवाई की जा रही है। अब तक पूरे प्रदेश से मिली शिकायतों में से 96 प्रतिशत से अधिक का निराकरण कर लिया गया है वहीं शेष पर कार्रवाई की जा रही है।

इनमें सबसे अधिक बिना अनुमति बैनर पोस्टर लगाने की शिकायतें हैं। इसके अतिरिक्त प्रचार सामग्री का अनाधित परिवहन समेत आचार संहिता उल्लंघन के मामले शामिल हैं।

सी-विजिल एप से प्राप्त शिकायतों में सबसे अधिक रायपुर में 196 शिकायतें प्राप्त हुईं जिसमें से 170 का निराकरण कर लिया गया वहीं दुर्ग में 62 शिकायतों में शतप्रतिशत का निराकरण हो चुका है।

इसके अलावा कोण्डागाँव में 24 में से 22 शिकायतों का निराकरण किया गया है. क्रियाशील होने के बाद से सी-विजिल एप्लीकेशन में अब तक 501 शिकायतें प्राप्त हुई है।

जिसमें से 484 का निराकरण कर लिया गया है वहीं 17 पर कार्रवाई जारी है। आम नागरिकों से आचार संहिता के उल्लंघन की शिकायतें सी-विजिल के माध्यम से मिल रही हैं। इसमें से सबसे कम शिकायत बीजापुर से मिली है।

बीजापुर में एक ही शिकायत प्राप्त हुई थी जिसका निराकरण कर लिया गया है। इसके बाद दण्तेवाड़ा और कोण्डागाँव से दो-दो शिकायतें प्राप्त हुईं थीं जिसका निराकरण भी कर लिया गया है।

सी-विजिल पर मिलने वाली शिकायतों के निराकरण के लिए मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय में अलग से नियंत्रण कक्ष स्थापित किया गया है। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी सुब्रत साहू स्वयं प्रतिदिन मिलने वाली शिकायतों पर हुई कार्रवाई की निगरानी कर रहे हैं।

राज्य में विधानसभा निर्वाचन-2018 के दौरान आदर्श आचार संहिता का पालन सुनिश्चित कराने के हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं। भारत निर्वाचन आयोग ने विधानसभा निर्वाचन के दौरान एंड्रायड आधारित एप शुरू कर आचार संहिता के उल्लंघन पर त्वरित कार्रवाई के लिए सीधे आयोग को शिकायत पहुँचाने की व्यवस्था की है।

बता दें एप के जरिए निर्वाचन प्रक्रिया के दौरान होने वाली गड़बड़ी की तस्वीर और वीडियो को भेजा जा सकता है। निर्वाचन के दौरान अगर किसी भी मतदाता को यह दिखता है कि आचार संहिता का उल्लंघन हो रहा है, तो वे इस एप पर अपनी शिकायत भेज सकते हैं।

इसके लिए शिकायतकर्ता फोन पर सी-विजिल एप्लिकेशन डाउन लोड कर सीधे घटना की फोटो या वीडियो अपलोड कर सकते हैं। मतदाता को रिझाने के लिए पैसे अथवा उपहार वितरण, भड़काऊ भाषण देने,

बिना अनुमति बैनर-पोस्टर लगाने, मदिरा वितरण, बिना अनुमति सभाएं करने, अनाधित सामग्री परिवहन, प्रचार समय समाप्ति के बाद सभा, मतदान केन्द्र के 200 मीटर के अंदर प्रचार समेत ऐसे ही किसी अन्य आचार संहिता उल्लंघन के मामलों की शिकायत इस एप के माध्यम से की जा सकती है।

Back to top button