कर्नाटक में स्पीकर पद पर फसा पेंज, बीजेपी से ठोका अपना दावा

कर्नाटक की सत्ता भाजपा से छिन चुकी है। जेडीएस के कुमारस्वामी ने बुधवार को कर्नाटक के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली।

बेंगलुरं। कर्नाटक की सत्ता भाजपा से छिन चुकी है। जेडीएस के कुमारस्वामी ने बुधवार को कर्नाटक के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। लेकिन, भाजपा कर्नाटक में हार मानने के लिए तैयार नहीं है।

इसलिए, पार्टी ने एक नई चाल चल दी है। दरअसल, यहां भाजपा ने स्पीकर पद के लिए अपना दावा ठोक दिया है। गुरुवार को भाजपा के विधायक सुरेश कुमार ने विधानसभा स्पीकर पद के लिए नामांकन पत्र दाखिर कर दिया। इससे एक बार फिर कर्नाटक की राजनीति गरमा गई है।

बताया जा रहा है कि विधायक सुरेश कुमार ने पार्टी के नेता वी सुनील और अश्वथ नारायण की मौजूदगी में अपना पर्चा दाखिल किया है। इनके अलावा कांग्रेस के केआर रमेश कुमार ने भी विधानसभा स्पीकर पद के लिए नामांकन पत्र दाखिल किया है। इस मौके पर उपमुख्यमंत्री जी परमेश्वर, पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया और पार्टी के कई अन्य नेता भी मौजूद रहे।

राजनीतिक विशेषज्ञों का मानना है कि जिस तरह जेडीएस ने कांग्रेस के साथ गठबंधन कर सरकार बनाई है। इससे तो यही लगता है कि आगामी समय में एचडी कुमारस्वामी के सफर में मुश्किलें आती रहेंगी। क्योंकि, उन्होंने सिर्फ सीएम पद के फेर में अपना दांव चला है। अब देखना दिलचस्प होगा कि उनका यह दांव कब तक सफल होता रहेगा। क्योंकि, भाजपा किसी भी हाल में यहां अपनी हार स्वीकार करने को तैयार नहीं है।

बता दें कि 224 विधानसभा सीटों में से 222 सीटों पर हुए चुनाव में किसी एक पार्टी को पूर्ण बहुमत नहीं मिला है। भाजपा को 104, कांग्रेस को 78 तथा जेडीएस को 38 सीटें और अन्य को दो सीटें मिली हैं।

लिहाजा, भाजपा ने सबसे पहले सरकार बनाने का दावा ठोका था। लेकिन, येदियुरप्पा बहुमत साबित नहीं कर सके और ढाई दिन के बाद ही उन्होंने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद जेडीएस और कांग्रेस ने गठबंधन कर यहां सरकार बनाई है।<>

new jindal advt tree advt
Back to top button