पिता ने डांटा तो बच्चे ने खाया 2 किलो सीमेंट और POP, डॉक्टरों ने सर्जरी कर निकाला

पाकुर : बर्धमान मेडिकल कॉलेज के सर्जन्स ने जब 19 साल के बिमल का ऑपरेशन करना शुरू किया तो उसके पेट से जो निकला उसे देखकर उनकी आंखें खुली की खुली रह गईं। बिमल के पेट से 2 किलोग्राम कॉन्क्रीट निकला जो वह अपनी जान देने के इरादे से निगल लिया था।

यह तो अमीर घरों में होता था की माता पिता की डांट बच्चे नही सुन पाते. गरीब घरों में तो यह सब नही चलता था. बच्चो को सहनशीलता और माता पिता का आदर करना सीखना चाहिये.

बिमल पाल झारखंड के पाकुर का रहने वाला है। उसके पिता धीरेन पाल मूर्तिकार हैं। वह मूर्तियां बनाने में पिता का हाथ बंटाता है। बताया गया है कि शनिवार को काम करते वक्त ध्यान न देने की वजह से धीरेन ने बिमल को डांट दिया। इस बात से आहत होकर बिमल ने जान देने का फैसला किया।

इसके बाद वह सीमेंट और प्लास्टर ऑफ पैरिस निगल लिया। उसके पेट में जाकर ये सब जम गया और उसे पेट दर्द शुरू हो गया। बिमल को फौरन स्थानीय मारवाड़ी अस्पताल ले जाया गया और फिर रामपूर्हट ब्लॉक अस्पताल ले जाया गया। कहीं बात न बनने पर बर्धमान अस्पताल में उसे भर्ती कराया गया। वहां 10 सर्जन्स की एक टीम ने उसके पेट से सीमेंट निकाला।

मेडिकल कॉलेज के सुपरिंटेंडेंट उत्पल डॉन ने अपनी टीम की तारीफ करते हुए कहा कि टीम ने अपना कौशल एक बार दिखाया है। उन्होंने बिमल को कहीं और रिफर नहीं किया। उसके टेस्ट्स किए गए और ऑब्जर्वेशन में रखा गया। उन्होंने बताया कि सर्जरी के बाद अब वह उसकी हालत में सुधार हो रहा है।

वहीं सर्जिकल टीम का नेतृत्व करने वाले डॉ स्नेहांग्शु पान ने कहा कि यह सर्जरी थोड़ी अलग थी। उन्होंने बताया कि पश्चिम बंगाल में अक्सर लोग सर्जरी कराने कोलकाता या दक्षिण भारत चले जाते

Back to top button