पिता ने की अपने 11 साल के बेटे को जिंदा जलाने की कोशिश, अपराध दर्ज

रिपोर्टर प्रणव:

बिलासपुर: उसलापुर रेलवे स्टेशन के आउटर में खड़ी डोंगरगढ़-गेवरारोड लोकल ट्रेन में बुधवार को पिता ने अपने 11 साल के बेटे को जिंदा जलाने की कोशिश की। बच्चे के शर्ट में लगी आग को ट्रेन में मौजूद यात्रियों ने बुझाया।

इसके बाद आरोपी को यात्रियों ने जमकर पीटा और पुलिस के सुपुर्द कर दिया। झुलसे बच्चे को सिम्स में भर्ती किया गया। आरोपी के खिलाफ अपराध दर्ज करने के बाद जीआरपी ने जेल भेज दिया है।

जीआरपी से मिली जानकारी के अनुसार चुचुहियापारा रेलवे क्रासिंग में अंडर ब्रिज निर्माण के दौरान हुए हादसे के बाद रायपुर रूट से आने वाली ट्रेनों को दाधापारा से उसलापुर डायवर्ट किया गया था, जिसमें डोंगरगढ़-गेवरारोड लोकल ट्रेन भी शामिल थी।

रात करीब 12बजे लोकल ट्रेन उसलापुर रेलवे स्टेशन के आउटर में खड़ी थी। उत्तरप्रदेश निवासी मोहसीन खान अपने 11 साल के बेटे सुकूल के साथ सफर कर रहा था। उसने पीछे से बेटे की शर्ट में आग लगा दी। आग शर्ट में फैल गई और सुकुल चिल्लाने लगा। यात्रियों ने पास रखे पानी से आग बुझाई।

यात्रियों ने मोहसीन की जमकर पिटाई की और घटना की सूचना आरपीएफ व डॉयल 112 को दी। इसी बीच ट्रेन उसलापुर रेलवे स्टेशन पहुंची। यात्रियों ने आरोपी को आरपीएफ के सुपुर्द कर दिया। आरपीएफ ने आरोपी की जीआरपी के हवाले करते हुए डायल 112 से झुलसे सुकुल को सिम्स में भर्ती कराया।

आरोपी के खिलाफ जीआरपी ने धारा 307 के तहत अपराध दर्ज किया। आरोपी को कोर्ट के आदेश पर जेल भेज दिया गया है। वहीं पुलिस ने आरोपी से बेटे को जलाने का कारण पूछा लेकिन वह कोई जवाब नहीं दे पाया। उसने पुलिस को बताया कि वह बेटे को घुमाने के लिए घर से लेकर निकला था।

Tags
Back to top button