राष्ट्रीय

ट्रेस होने के डर से व्हाट्स ऐप और इंटरनेट कॉल के जरिए बात कर रही है हनीप्रीत

नई दिल्ली: बलात्कार के आरोप में सजा काट रहे राम रहीम की कथित बेटी की तलाश में पुलिस जांच में जुटी है. नेपाल से लेकर तमाम जगहों पर भाग निकलने की खबरों के बीच हाल ही में उसके राजधानी में होने की खबर मिली है. इसके बाद दिल्ली पुलिस ने भी उसे खोजने की कवायद तेज कर दी है. इस मामले में पुलिस ने अपने खबरियों को अलर्ट कर दिया है. पुलिस उसकी प्रॉपर्टी के केयर टेकर से लेकर वकील पर नजर बनाए हुए है. दरअसल कहा जा रहा है ट्रेस होने के डर से हनीप्रीत व्हाट्सऐप पर चैट और कॉल के माध्यम से इन लोगों के संपर्क में है.

हनीप्रीत को ढूंढने के लिए सभी थानों की पुलिस को अलर्ट कर दिया गया है. पुलिस की नजर खासतौर पर लाजपत नगर और ग्रेटर कैलाश पार्ट 2 एन्क्लेव पर है. इन जगहों पर वकील का ऑफिस और गुरमीत राम रहीम की कोठी है.

दूसरी तरफ हनीप्रीत इंसां की मंगलवार को ट्रांजिट अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर दी. अदालत ने कहा कि वह किसी भी तरह के विवेकाधिकार वाली राहत पाने की हकदार नहीं हैं क्योंकि वह डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम की 25 अगस्त को दोषसिद्धि के बाद फैली हिंसा के बाद से ही गिरफ्तारी से बच रही हैं. अदालत ने गौर किया कि हनीप्रीत ने जांच में शामिल होने या आत्मसमर्पण करने को लेकर प्रतिबद्धता नहीं जताई.

सुनवाई के दौरान, उच्च न्यायालय ने उसके सामने अग्रिम जमानत याचिका दायर करने पर हनीप्रीत पर सवाल उठाए और कहा कि वह हरियाणा की स्थायी नागरिक हैं और,‘‘आपके लिए सबसे आसान तरीका आत्मसमर्पण करना है.’’दिल्ली और हरियाणा पुलिस के वकीलों ने हनीप्रीत की याचिका का कड़ा विरोध किया और कहा कि दिल्ली की एक संपत्ति का गलत पता देकर वह अदालत को गुमराह कर रही हैं. ट्रांजिट अग्रिम जमानत याचिका एक स्थान से दूसरे स्थान पर जाने के दौरान गिरफ्तारी से बचाव के लिये होती है.

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.