महिला किसान की धमकी, जमीन गई तो दोनों बच्चों के साथ दे दूंगी जान

जगदलपुर. छत्तीसगढ़ के बस्तर जिले में नक्सल प्रभावित क्षेत्र के चार किसानों को कर्ज नहीं चुकाने पर प्रशासन ने कुर्की का नोटिस जारी किया है। कहा गया है कि कर्ज नहीं चुकाने पर उनकी जमीन नीलाम कर दी जाएगी। एक कर्जदार आदिवासी महिला किसान ने अपने दो बच्चों के साथ आत्महत्या करने की धमकी दी है।

महिला किसान कमला ने बताया कि उसके पति भगत की चार माह पहले मौत हो गई। उसके पति ने खेती सुधार के लिए 50 हजार रुपये का कर्ज लिया था, जिसमें से कुछ रुपये उसके पति ने चुका दिया है और कुछ बाकी है। उसके दो बच्चे हैं और खेती ही उनके जीवन का आधार है।

‘जमीन हाथ से गई तो दोनों बच्चों समेत लगा लूंगी फांसी’
उसने स्पष्ट तौर पर कहा है कि, अगर जमीन हाथ से निकल जाती है तो मैं अपने दो बच्चों के साथ फांसी लगा लूंगी। इसी तरह मावलीपदर के किसान बुदरू को केवल चार हजार रुपये चुकाने हैं, लेकिन उसकी खेती की जमीन में तहसीलदार ने कुर्की का बोर्ड लगवा दिया है और नीलामी की सूचना नोटिस के जरिए दी है।

कर्ज चुकाने के लिए 11 किसानों को किया नोटिस जारी
तहसीलदार शेखर मिश्रा ने बताया कि दरभा तहसील के अलग-अलग गांव के 11 किसानों को कर्ज चुकाने के लिए नोटिस जारी किया गया है। इनमें से चार किसानों की खेती की जमीन कुर्क करने का आदेश दिया गया है। देर-सवेर कुर्की की कार्रवाई तो होगी ही।

Back to top button