पाकिस्तान फुटबॉल फेडरेशन को फीफा ने किया सस्पेंड

बुधवार को पाकिस्तान फुटबॉल संघ (पीएफएफ) को निलंबित कर दिया. फीफा ने एक बयान में कहा कि ब्यूरो ने इस तथ्य के परिणाम स्वरूप यह फैसला लिया कि पीएफएफ के कार्यालय और खाते न्यायालय द्वारा नियुक्त एक प्रशासक के नियंत्रण में रहेंगे.

बयान के अनुसार, ‘फीफा के संविधान के अनुसार यह तीसरे पक्ष के हस्तक्षेप के बगैर स्वतंत्र रूप से अपने मामलों का प्रबंधन करने के पीएफएफ के दायित्व का उल्लंघन है. पीएफएफ का निलंबन तभी वापस लिया जाएगा, जब पीएफएफ के कार्यालय और उसके खाते उसे वापस लौटा दिए जाएंगे.

इस निलंबन के बाद, फीफा संविधान के अनुच्छेद 13 में दी गई व्यवस्था के अनुसार पीएफएफ के सभी सदस्यता अधिकार समाप्त हो गए हैं. पीएफएफ के प्रतिनिधि और क्लब की टीमें निलंबन वापस होने तक किसी भी प्रकार की अंतरराष्ट्रीय प्रतिस्पर्धाओं में हिस्सा नहीं ले पाएंगी.

2015 में फैजल सालेह हयात के महासंघ के अध्यक्ष के रूप में चुनाव और उसके बाद वोट-रिगिंग के आरोपों ने प्रभावी रूप से पाकिस्तान में इस खेल को चलने से रोक दिया था. पाकिस्तान की फुटबॉल टीम ने 2015 के बाद से कोई मैच नहीं खेला और फीफा के इस फैसले ने जले पर नमक छिड़कने का काम किया.

1
Back to top button