फीफा अंडर-17 विश्व कप: इंग्लैंड और स्पेन की टीमें खिताब पाने की होड़ में जी-जान से जुटी

फीफा अंडर-17 विश्व कप: इंग्लैंड और स्पेन की टीमें खिताब पाने की होड़ में जी-जान से जुटी

कोलकाता: भारत में खेले जा रहे फीफा अंडर-17 विश्व कप में भले ही भारत किसी भी दौड़ में न हो, लेकिन यहां फुटबॉल प्रेमियों पर फुटबॉल का बुखार सिर चढ़कर बोल रहा है. कोलकाता में विश्वकप का फाइनल खेला जा रहा है. इंग्लैंड और स्पेन की टीमें खिताब पाने की होड़ में जी-जान से जुटी हुई हैं. यह पहला अवसर है जबकि यूरोप की दो टीमें फाइनल में एक दूसरे से भिड़ रही हैं.

बेहद कड़े और रोमांचक फुटबाल के तीन सप्ताह के बाद केवल इंग्लैंड और स्पेन ही अब खिताब की दौड़ में बचे थे और दोनों टीमें 66 हजार दर्शकों की क्षमता वाले साल्टलेक स्टेडियम में अपना पहला खिताब जीतने के लिए ऐढ़ीचोटी के जोर लगा रही हैं.

इंग्लैंड ने अब तक टूर्नामेंट में 18 और स्पेन ने 15 गोल किये हैं. इंग्लैंड चौथी बार इस टूर्नामेंट में खेल रहा है लेकिन वह पहली बार फाइनल में पहुंचा है जबकि स्पेन इससे पहले 1991, 2003 और 2007 में उप विजेता रहा था. यह मई में क्रोएशिया में यूरोपीय अंडर-17 चैंपियनशिप मैच की पुनरावृत्ति होगी जब स्पेन ने पेनल्टी शूटआउट में जीत दर्ज की थी.

फीफा ने सोयी हुई शक्ति को जगाने के लिये दिसंबर, 2013 में भारत को अंडर-17 विश्व कप की मेजबानी सौंपी थी और यहां दर्शकों की संख्या की लिहाज से नया रिकॉर्ड बन गया.

अब तक खेले गये 50 मैचों में 1,224,027 दर्शक मौजूद रहे और नया रिकॉर्ड बनाने के लिये इन दो मैचों में केवल 6949 दर्शकों की जरूरत पड़ेगी. पिछला रिकॉर्ड 1985 में चीन में खेले गये पहले टूर्नामेंट में बना था. तब 1,230,976 दर्शकों ने स्टेडियम में पहुंचकर मैच देखा था.

कोलकाता के दर्शकों का ब्राजील और माली के बीच तीसरे स्थान के मैच के लिए भी बड़ी संख्या में पहुंचने की उम्मीद है और ऐसे में इसके सर्वाधिक दर्शकों वाला फीफा अंडर-17 या अंडर-20 टूर्नामेंट बनना तय है. कोलंबिया में 2011 में खेले गए फीफा अंडर-20 विश्व कप टूर्नामेंट में रिकार्ड 13,09,929 दर्शक स्टेडियम में पहुंचे थे और यहां उसका रिकार्ड टूटने वाला है.

भारत में खेले जा रहे इस टूर्नामेंट में सर्वाधिक गोल का नया रिकार्ड भी बन सकता है. इसमें अब तक 50 मैचों में 170 गोल दागे जा चुके हैं और अब वह संयुक्त अरब अमीरात में 2013 में खेले गये टूर्नामेंट के 172 गोल के रिकार्ड से केवल दो गोल पीछे है.

advt

Back to top button