छावनी में तब्दील हुआ चितौड़गढ़ किला, स्वामी ने पूछा- पद्मावत फिल्म का ऐतिहासिक महत्व क्या है?

बीजेपी सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि ऐसी फिल्में नहीं बनानी जानी चाहिए

छावनी में तब्दील हुआ चितौड़गढ़ किला, स्वामी ने पूछा- पद्मावत फिल्म का ऐतिहासिक महत्व क्या है?

लंबे समय से विवादों में चल रही फिल्म पद्मावत भारी सुरक्षा के बीच रिलीज हो गई है, लेकिन लगातार विरोध कर रही करणी सेना का प्रदर्शन अभी जारी है। भारी सुरक्षा के इंतजाम के बीच कई जगहों पर तोड़फोड़ की खबर आ रही है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पटना में विरोध के चलते फिल्म रिलीज नहीं की जा रही है। पटना के सिनेमाघरों मालिकों ने ऐलान करते हुए कहा कि वे इस फिल्म को रिलीज नहीं करेंगे। बताया जा रहा है कि बिहार के बाकी शहरों में फिल्म नहीं दिखाई जाएगी।

– बीजेपी सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि ऐसी फिल्में नहीं बनानी जानी चाहिए। इसका ऐतिहासिक मूल्य जीरो है। उन्होंने कहा कि इसका इतिहास से जब कोई लेना-देना नहीं तो आप इस पर फिल्म क्यों बना रहे हैं?

-फिल्म के विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए चितौड़गढ़ किले को छावनी में बदल दिया गया है। यहां किले में हेवी सिक्योरिटी को तैनात किया गया है।

-प्रदर्शनों की अगुवाई कर रही करणी सेना ने इसी क्रम में आज जैसलमेर में बंद का आह्वान किया है। जिसके बाद आज सुबह से ही पर्यटकों से गुलजार रहने वाला यह शहर वीरान पड़ा है। पुलिस ने बंद के दौरान किसी भी अप्रिय घटना से निपटने के लिए चाक-चौबंद सुरक्षा इंतजाम किए है।

-पद्मावत के रिलीज पर बयानों का दौर शुरू हो गया है और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह का कहा है कि जो ऐसी फिल्में नहीं बननी चाहिए जो धार्मिका भावनाओं को आहत करे।

-पद्मावत विवाद पर केंद्रीय मंत्री वीके सिंह का कहना है कि अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता इतिहास को तोड़फोड़ करने की इजाजत नहीं देती, तो जो विरोध कर रहे हैं उनके साथ बैठ के इसको सुलझाया जाए। जब चीजें सहमति से नहीं होती हैं तो फिर उसमें गड़बड़ होती है।

-मध्यप्रदेश में भी पद्मावत के विरोध की आग फैली हुई है। प्रदर्शनकारियों ने कार को आग लगा दी है और इस आरोप में दो लोगों को हिरासत में लिया गया है।

-वहीं पुणे के एक सिनेमा हॉल के मालिक किशोर गनतारा ने कहा कि यहां पर शांति है और पुलिस भी तैनात है।

मुंबई में अलग-अलग जगहों से करणी सेना के 50 समर्थकों को हिरासत में लिया गया है। गुजरात में मंगलवार को अहमदाबाद में मल्टीप्लेक्स में हुई तोड़फोड़ के मामले में भी 50 लोग हिरासत में लिए गए हैं। इस बीच, मल्टीप्लेक्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया ने कहा है कि राजस्थान, गुजरात, मध्य प्रदेश और गोवा में फिल्म का प्रदर्शन नहीं होगा। यह संस्था 75 फीसदी मल्टीप्लेक्स मालिकों का प्रतिनिधित्व करती है।

गुजरात के थियेटर मालिकों ने विवाद खत्म होने तक किसी भी मल्टीप्लेक्स और सिंगल स्क्रीन सिनेमाघर में फिल्म न प्रदर्शित करने का फैसला किया है। वहीं, राजस्थान में राजपूत समुदाय की 1,900 महिलाओं के जौहर करने को तैयार होने से एलान के बाद करणी सेना की चित्तौड़गढ़ इकाई के प्रमुख को गिरफ्तार कर लिया गया है।

advt
Back to top button