मोदी सरकार के 3 साल का आर्थिक रिपोर्ट कार्ड LIVE, जेटली बोले- ऑल इज वेल

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने देश की अर्थव्यवस्था पर मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की. उन्होंने कहा कि देश का ढांचा मजबूत है. हम चुनौतियों से निपटने में सक्षम हैं.

वित्‍त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि चुनौतियों से निपटने के लिए सरकार तैयार है. अर्थव्‍यवस्‍था की स्थिति को लेकर पीएम के साथ कई बैठकें हुईं. सरकार इन चुनौतियों से निपटने के लिए तैयार है.

अतंरराष्‍ट्रीय संस्‍थाओं ने लगातार भारत की वृद्ध‍ि दर के अनुमान में कटौती की है. आईएमएफ और विश्‍व बैंक समेत कई संस्‍थाओं ने घटती वृद्ध‍ि दर के लिए जीएसटी और नोटबंदी को जिम्‍मेदार ठहराया है.

महंगाई में कमी आई
जेटली ने कहा- जहां तेजी से जरूरत होगी, वहांतेजी से काम होगा. तीन साल में महंगाई में कमी आई है. तीन साल में देश का विकास तेजी से हुआ.

7.5 फीसदी रही है जीडीपी विकास दर
वित्‍त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि पिछले तीन साल के दौरान जीडीपी की औसत दर 7.5 फीसदी रही.उन्‍होंने कहा कि वैश्विक स्‍तर पर भारत में विश्‍वास बढ़ा है. अर्थव्‍यवस्‍था का बुनियादी ढांचा काफी मजबूत है.

मोदी सरकार ने रखा तीन साल का रिपोर्ट कार्ड

– विदेशी पूंजी निवेश बढ़ कर 400 बिलियन डॉलर हुआ.

– जीएसटी सबसे बड़ा सुधार. इसके अलावा नोटबंदी, काले धन पर नकेल भी कसने में रहे कामयाब.

– जीएसटी से भ्रष्‍टाचार में कमी आई है.

मौजूदा चालू खाता घाटा नियंत्रण में
इस दौरान उन्‍होंने बताया कि भारत का चालू खाता घाटा नियंत्रण में है. यह फिलहाल सेफ जोन में है और 2 फीसदी से नीचे है.

बढ़ेगा दूसरे देशों के साथ व्‍यापार
भारत का अन्‍य देशों के साथ व्‍यापार बढ़ेगा. इसमें बेहतर ढांचागत विकास मदर करेगा. सरकार बॉर्डर के करीब भी बुनियादी विकास को रफ्तार देने में जुटी हुई है.

34,800 किलोमीटर की सड़कें बनाई जाएंगी
देश में 34,800 किलोमीटर सड़कें बिछाई जाएंगी. इसे भारत माला नाम दिया गया है. दावा है कि इस प्रोजेक्‍ट के जरिये भारत में कनेक्टिविटी बढ़ेगी. अगले 5 वर्षों में 6.92 लाख करोड़ रूपये खर्च किए जाएंगे.

PSB बैंकों को मजबूत करने पर फोकस
वित्‍त सचिव ने इस दौरान एक प्रजेंटेशन भी दिया. इसमें उन्‍होंने अर्थव्‍यवस्‍था की मौजूदा परेशानियों और उनके खिलाफ सरकार की तरफ से लिए गए एक्‍शन की जानकारी भी दी. सचिव ने प्रजेंटेशन के जरिये बताया कि सरकार का फोकस बैंकों को मजबूत करने पर है.

रोजगार पैदा करना है लक्ष्‍य
सरकार का फोकस इन्‍हें मजबूत करने के साथ ही इनका विकास करना है और इनके जरिये रोजगार पैदा करना है. प्रजेंटेशन के मुताबिक अभी पब्लिक सेक्‍टर बैंक्‍स बढ़े हुए एनपीए और कर्ज के तले डूबे हुए हैं.

PSB की हालत सुधारने को उठा रहे कदम
केंद्र सरकार पीएसबी को इस जाल से बाहर निकालने के लिए कई कदम उठा रही है. प्रजेंटेशन के मुताबिक सरकार ने इस स्‍थ‍िति को सुधारने के लिए एक्‍शन लेना शुरू कर दिया है. पीएसबी के लिए एक रोडमैप तैयार किया गया है.

Back to top button