वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण: ‘Cryptocurrency एक जोखिम भरा क्षेत्र, जल्‍द पेश किया जाएगा बिल’

नई दिल्ली. संसद के शीतकालीन सत्र (Winter Session of Parliament) का आज यानी मंगलवार को दूसरा दिन है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने मंगलवार को राज्यसभा में कहा कि सरकार जल्द ही क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) पर एक बिल पेश करेगी. उन्होंने राज्यसभा में कहा कि केंद्रीय कैबिनेट से मंजूरी मिलने के बाद यह बिल सदन में आएगा. पहले मानसून सत्र में आने वाला था बिल सरकार ने संसद के पिछले सत्र (मानसून सत्र) में भी इसी तरह के एक बिल को सूचीबद्ध किया था, लेकिन इसे नहीं लिया गया था. निर्मला ने कहा, “पहले का प्रयास निश्चित रूप से एक विधेयक लाने का था… लेकिन, बाद में, तेजी से कई चीजें चलन में आयी, हमने एक नए विधेयक पर काम करना शुरू कर दिया. उन्होंने कहा कि मानसून सत्र के दौरान भी विधेयक लाने का “गंभीरता से प्रयास” किया गया था.

विज्ञापनों पर प्रतिबंध पर फैसला नहीं वित्त मंत्री ने कहा कि प्रस्तावित विधेयक के जल्द ही पेश किए जाने की संभावना है. यह पूछे जाने पर कि क्या मीडिया में भ्रामक विज्ञापनों पर प्रतिबंध लगाने का सरकार का कोई प्रस्ताव है, वित्त मंत्री ने कहा कि भारतीय विज्ञापन मानक परिषद (Advertising Standards Council of India) के गाइडलाइंस का अध्ययन किया जा रहा है और उनके नियमों पर भी गौर किया जा रहा है, ताकि हम जरूरत पड़ने पर कोई कदम उठा सकें.उन्होंने कहा कि भारत में क्रिप्टोकरेंसी अनरेगुलेटेड है और सरकार क्रिप्टोकरेंसी में लेनदेन से जुड़े आकंड़े कलेक्ट नहीं करती है. उन्होंने यह भी कहा कि सरकार, रिजर्व बैंक और सेबी लोगों को क्रिप्टोकरेंसी के बारे में आगाह करते रहे हैं कि यह काफी जोखिम भरा क्षेत्र हो सकता है और इस बारे में और जागरूकता पैदा करने की जरूरत है. सत्र के पहले दिन बिटक्वाइन को लेकर कही थी ये बात गौरतलब है कि वित्त मंत्री ने सोमवार को लोकसभा में एक सवाल का जवाब देते हुए कहा कि बिटकॉइन को भारत में करेंसी के रूप में मान्यता देने का कोई प्रस्ताव नहीं है. साथ ही बताया कि भारत सरकार बिटकॉइन के लेनदेन का कोई डेटा कलेक्ट नहीं करती है.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button