जानिए प्रेग्नेंसी आपके इन 8 अंगों में क्यों आ जाती है सूजन

प्रेग्नेंसी वो समय है जब महिला के गर्भ में एक जीव पल रहा होता है।

जहां गर्भधारण से महिला को अनमोल खुशी मिलती है वहीं उसे बहुत सी शारीरिक और मानसिक परेशानियों का सामना करना पड़ता है। मिचली आना, चक्कर आना, वजन बढ़ जाना, ब्लीडिंग होना, चिड़चिड़ापन होना और पेट में दर्द होना गर्भवस्था की सामान्य समस्याएं हैं।

शरीर में सूजन आ जाना भी गर्भवस्था का एक सामान्य लक्षण है लेकिन सूजन बहुत अधिक है तो ये चिंता की बात हो सकती है। आम बोलचाल की भाषा में इसे एडेमा कहते हैं। इस दौरान हाथ, पैर, चेहरे, पेंडुली और पैरों में सबसे अधिक सूजन आती है लेकिन डिलीवरी के बाद ये अंग सामान्य हो जाते हैं।

गर्भावस्था के दौरान इन अंगों में आ सकती है सूजन

1. गर्भावस्था में 90% महिलाओं के पैरों में सूजन आ जाती है।

2. इस दौरान होंठों में भी सूजन आ सकती है। दरअसल, गर्भावस्था में हॉर्मोन्स में काफी बदलाव आते हैं जिसके कारण होंठ सूज जाते है।

3. गर्भावस्था में महिला के ब्रेस्ट में मिल्क प्रोडक्शन होना शुरू हो जाता है जिसके कारण ब्रेस्ट में भी सूजन आ सकती है।

4. हॉर्मोनल परिवर्तन के चलते गर्भवती की नाक में सूजन आ सकती है।

5. गर्भावस्था में सबसे ज्यादा सूजन पैर और पेंडुली में आ जाती है। दरअसल, इस दौरान शरीर का पूरा भार पैरों पर पड़ता है, जिससे उनमें सूजन आ जाती है।

6. चेहरे पर नजर आने वाली सूजन भी हॉर्मोनल बदलाव की वजह से होती है।

7. गर्भावस्था में मसूड़ों में भी सूजन आ सकती है।

8. गर्भावस्था में प्राइवेट पार्टस में भी सूजन आ जाती है जिससे कभी कभार यूरीन डिस्चार्ज करने में भी तकलीफ होने लगती है।

<>

Back to top button