छत्तीसगढ़

शराब प्लेसमेंट एजेंसी के लोकेशन मैनेजर पर प्राथमिकी दर्ज

पुलिस में दी शिकायत में शांतनु ने मानसिक रूप से प्रताड़ित होने पर आत्महत्या करने का मन बनाया था का भी जिक्र किया है।

हिमालय मुखर्जी ब्यूरो चीफ रायगढ़

सुपरवाईजर ने मैनेजर पर धमकाने और चोरी करने का लगाया आरोप प्लेसमेंट एजेंसी प्राइम वन वर्क फोर्स प्राइवेट लिमिटेड द्वारा संचालित चक्रधर नगर सरकारी शराब दुकान के सुपरवाईजर ने अपने ही मैनेजर पर गंभीर आरोप लगाए हैं। दुकान के गल्ले से 7,200 रूपये की चोरी सेल्समेन से करवाने और उसका आधा हिस्सा बांटने का आऱोप लगाया है। साथ ही अपने घर का किराया भरवाने के लिए दबाव बनाने का आरोप लगाया है।

पीड़ित सुपरवाईजर शान्तनु कुमार भारद्वाज पुलिस की शरण में

मामला विभाग से नहीं संभला तो पीड़ित सुपरवाईजर शान्तनु कुमार भारद्वाज पुलिस की शरण में गया जहां लोकेशन मैनेजर राज कुमार जायसवाल और सेल्समेन रामसलोनी पर धारा 34 व 381 के तहत मामला दर्ज किया गया। पुलिस में दी शिकायत में शांतनु ने मानसिक रूप से प्रताड़ित होने पर आत्महत्या करने का मन बनाया था का भी जिक्र किया है।

विदित हो कि जब से शराब दुकान का संचालन राज्य सरकार ने अपने हाथ में लिया और उसे प्लेसमेंट एजेंसी के मार्फत चला रही है रही तब से आए दिन शराब की ब्रिकी को लेकर विवाद होता रहा है। कभी शराब दुकान से ओवर प्राइसिंग का खेल हो या फिर अन्य प्रांतो की शराब को सरकारी शराब दुकान से बेचना। लेकिन इस बार जो आरोप लगे हैं वो गंभीर है, एक सुपरवाईजर ने अवैध उगाही के बड़े रैकेट से पर्दा उठाया है। सुपरवाईजर का आरोप है कि सेल्मैन को जानकर शराब दुकान के गल्ले से छेड़छाड़ करने के लिए उनका ही बॉस उकसाता है।

सीसीटीवी की रिकॉर्डिंग

सुपरवाईजर ने बकायदा इस पूरे मामले में सीसीटीवी की रिकॉर्डिंग और ऑडियो क्लिप भी सुबूत के तौर पर पेश किया है। आबकारी महकमे में बीते दो दिनों से इस रहस्योद्घाटन से हड़कंप मचा हुआ है। मंगलवार सुबह बिलासपुर से टीम आकर सुबह से देर शाम तक चक्रधर नगर ठेके में ऑडिट करती रही। पीड़ित सुपरवाईजर शांतनु कुमार दुकान के अंदर ही था और उसका फोन बंद बताया। चक्रधर नगर सरकारी शराब के दुकान के बाहर सुपरवाईजर, सेल्मैन और प्लेसमेंट एजेंसी के आलाधिकारियों का दिनभर रेला लगा रहा।

सहायक आबकारी आयुक्त मंजूश्री कसेर ने इस पूरे मामले पर ज्यादा जानकारी नहीं होने की बात कही और बताया कि जो आरोप लगे हैं वो गंभीर है। मामला पुलिस में चला गया है। दोनों की पक्ष प्लेसमेंट एजेंसी के हैं और उन दोनों के बीच विवाद है। विधिवत कार्रवाई जारी है।

वहीं अपने ऊपर लगे आरोप पर प्लेसमेंट एजेंसी के लोकेशन मैनेजर राजकुमार जायसवाल ने बताया कि उन्हें सोची समझी साजिश के तहत इस पूरे मामले में फंसाया गया है। इस बाबत उन्होंने उच्चाधिकारियों को सूचना दे दी है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button