राज्यराष्ट्रीय

आपत्तिजनक टिप्पणी के मामले में अलका लांबा के खिलाफ एफआईआर दर्ज

अलका लांबा पर भ्रामक ट्वीट करने का आरोप लगाया था

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग की सदस्य प्रीति वर्मा ने दिल्ली विधानसभा के सदस्य अलका लांबा के खिलाफ देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ और गृह मंत्री अमित शाह पर आपत्तिजनक टिप्पणी के मामले में हजरतगंज थाने में एफआईआर दर्ज की गई है.

प्रीति वर्मा ने अपनी शिकायत में कहा है कि अलका लांबा ने अपने ट्विटर अकाउंट पर 25 मई की रात 12 बजकर 7 मिनट पर एक बेहद अपमानजनक ट्वीट किया था. शिकायत में बताया गया है अलका ने एक वीडियो अपलोड किया था जिसमें पीएम मोदी और सीएम योगी के लिए अपमानजनक शब्दों का इस्तेमाल किया गया था. इसके साथ ही एक दूसरे ट्वीट में भ्रामक आरोपों के साथ हाईकोर्ट के न्यायाधीश पर भी सवाल खड़े किए गए हैं जो कोर्ट की अवमानना के अंतर्गत आता है.

जानकारी के मुताबिक अलका लांबा के खिलाफ 25 मई को शाम 7 बजकर 7 मिनटर पर एफआईआर दर्ज की गई थी. अलका लांबा के खिलाफ आईपीसी की धारा 504, धारा 505 (1)(बी), 505 (2) और सूचना प्रौद्योगिकी (संशोधन) अधिनियम 2008 की धारा 67 के तहत मामला दर्ज किया गया है.

यहां आपको यह भी बता दें कि उन्नाव के माखी रेप कांड के दोषी और बीजेपी के पूर्व विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की बेटी ऐश्वर्या ने भी अलका लांबा के खिलाफ उन्नाव पुलिस में भी शिकायत दर्ज कराई थी. ऐश्वर्या ने भी कांग्रेस नेता अलका लांबा पर भ्रामक ट्वीट करने का आरोप लगाया था.

Tags
Back to top button