सेम्पल देने से मना करने वालों के विरूद्ध होगी एफआईआर- कलेक्टर

कोरोना संक्रमित व्यक्ति नहीं रहेंगे होम आइसोलेशन में,कलेक्टर ने की कोरोना के बढ़ते संक्रमण की रोकथाम के उपायों की समीक्षा……

हिमालय मुखर्जी ब्यूरो चीफ रायगढ़

रायगढ़ : कलेक्टर भीम सिंह ने जिले में कोरोना संक्रमित व्यक्तियों की संख्या में लगातार वृद्धि होने पर आज अपने कक्ष में एडीएम राजेन्द्र कटारा, सीईओ जिला पंचायत ऋचा प्रकाश चौधरी, मेडिकल कालेज के डीन डॉ.लूका, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.एस.एन.केशरी के साथ बैठक लेकर संक्रमित मरीजों के इलाज तथा बीमारी को फैलने से रोकने के लिये किए जा रहे उपायों की समीक्षा की।

उन्होंने बताया कि रायगढ़ शहर में वार्डवार रैंडम सेम्पल लेकर जांच कराये जाने से संक्रमित मरीजों की पहचान हो रही है। प्रशासन द्वारा संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए अलग-अलग क्षेत्रों में कोविड अस्पताल बनाये गये है और बेड संख्या में भी वृद्धि की जा रही है।

शहरी क्षेत्र में हाई रिस्क (डायबिटीज, ब्लड प्रेशर, हृदय एवं किडनी रोग)वाले 5237 व्यक्तियों को चिन्हांकित किया गया था जिनमें से केवल 1244 व्यक्तियों ने ही अपना सेम्पल दिया। कलेक्टर सिंह ने अपील की है कि गंभीर बीमारियों से ग्रस्त व्यक्ति तथा उनके परिवार के अन्य सदस्य अपनी सुरक्षा को देखते हुये सेम्पल देकर जांच करावे।

उन्होंने कहा कि सभी व्यक्तियों के जीवन का मूल्य समान है शासन का प्रयास है कि सभी लोग सुरक्षित रहे और प्रारंभिक स्थिति में कोरोना संक्रमित होने पर इलाज संभव है परंतु देरी करने से बड़े से बड़े डॉक्टर्स भी कुछ नहीं कर पायेंगे इसलिये लोगों को बिना देरी किये शासकीय अस्पतालों में जाकर अपना इलाज कराना चाहिये।

कलेक्टर सिंह ने कहा

कलेक्टर सिंह ने कहा कि कोई भी व्यक्ति सेम्पल देने से मना नहीं कर सकता और यदि कोई मना करेगा तो उसके विरूद्ध एफआईआर दर्ज कर कार्यवाही की जायेगी। कलेक्टर सिंह ने कहा कि होम आईसोलेशन के दौरान शासन के गाइड लाइन का पालन नहीं हो रहा है, होम आइसोलेशन के तीन प्रकरणों में मरीजों के घर के अन्य सदस्य भी संक्रमित पाये गये है।

इसलिए कोरोना संक्रमित पाये जाने पर होम आइसोलेशन की सुविधा नहीं दी जायेगी। ऐसे व्यक्तियों को कोविड अस्पताल में रहकर ही इलाज कराना होगा। कलेक्टर सिंह ने सेम्पल जांच तथा रिपोर्ट मिलने में गति लाने के निर्देश दिये और जांच लैब में कर्मचारियों तथा डाटा एण्ट्री ऑपरेटर्स की संख्या कम है तो अतिरिक्त संख्या बढ़ाने को कहा। जिससे पॉजिटिव पाये गये व्यक्तियों को शीघ्र अस्पताल मेें शिफ्ट किया जा सकेगा।

उन्होंने कोविड अस्पतालों में भर्ती मरीजों के लिये समय से नाश्ता और भोजन उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। कोविड अस्पताल में भर्ती मरीज को चाय, नाश्ता तथा भोजन में किसी प्रकार की कमी अथवा गुणवत्ता कम होने की शिकायत नहीं मिलनी चाहिये। कलेक्टर सिंह ने कहा कि कोविड अस्पतालों के प्रभारी अधिकारियों को मरीजों की देखभाल, अस्पताल तथा शौचालयों की नियमित साफ-सफाई समय से बेडशीट बदलने तथा अन्य व्यवस्था सुनिश्चित करने और सफाई कर्मचारी कम है तो नगर निगम के माध्यम से और सफाई कर्मचारियों की व्यवस्था करने के निर्देश दिये।

उन्होंने सफाई कर्मचारियों की आवश्यकता की सामग्री तथा पीपीई किट, दास्ताने जैसे सुरक्षात्मक सामग्रियांं भी प्रदान करने तथा कोरोना संक्रमित मरीजों को दिशा-निर्देश दिये जाने के लिये कोविड अस्पतालों में पोर्टेबल माईक तथा साउंड बाक्स के माध्यम का उपयोग करने के निर्देश दिये। बैठक में मेडिकल कालेज और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी उपस्थित थे…

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button