शनिचरी सब्जी मंडी के दुकानों में लगी आग, रखी सब्जी जलकर खराब

अंकित मिंज:

बिलासपुर: शनिचरी सब्जी मंडी में सोमवार की सुबह दुकानों में आग लगने से यहां चबूतरों पर बनाई गईं 12 दुकानों में रखी सब्जी जलकर पूरी तरह से खराब हो गई। आग से हजारों रुपए की सब्जी का नुकसान होने की बात कही जा रही है।

गनीमत इस बात की रही कि जिस समय सब्जी मंडी की दुकानों में आग लगी तो अधिकांश दुकानदार मंडी आने के लिए बीच रास्ते में ही थे जिससे समय रहते उन्होंने ही आग पर काबू पा लिया।

सूचना मिलने के बाद फायर बिग्रेड का अमला डेढ़ घंटे की देरी से पहुंचा जिससे स्थानीय दुकानदारों ने नाराजगी जाहिर की। शनिचरी के रपटा पुल से सरकंडा वाली सड़क पर मैदान में सब्जी की दुकानें लगती हैं। यहां दुकानदार सुबह सात बजे से ही अपनी दुकानों पर सब्जियां बेचने का काम करते हैं।

लकड़ी व टीन से बनी हुईं इन दुकानों में ही सोमवार की सुबह अज्ञात कारणों से आग लग गई। आग ने एक के बाद एक 12 दुकानों को अपनी चपेट में ले लिया। इससे दुकानों के अंदर प्लास्टिक की कैरेट में रखी सब्जियों में भी आग लग गई जिससे वह पूरी तरह से जलकर खाक हो गए।

फायर ब्रिगेड का नहीं किया इंतजार, खुद ही बुझाई आग

सब्जी की दुकानों में आग लगने की सूचना अधिकांश दुकानदारों को बीच रास्ते मे ही लग गई क्योंकि वह मंडी ही दुकान खोलने के लिए आ रहे थे। इसलिए अधिकांश दुकानदार मौके पर जल्द पहुंचे और वहीं पास में लगे हुए नल से बाल्टियों में पानी भर-भर कर फेंकने लगे। सबने इस काम में सहायता की। लेकिन जब तक आग पर काबू पाया जाता काफी नुकसान हो चुका था।

छोटे-छोटे गोदाम भी बने हुए हैं

सब्जी विक्रेताओं ने अपनी-अपनी दुकानों के पीछे सब्जी रखने के लिए लकड़ी व टीन से छोटे-छोटे गोदाम भी बनाए हुए हैं। इन गोदामों में मटर व टमाटर से भरे कैरेट रखे हुए थे। लेकिन आग वहां तक नहीं पहुंच सकी। वहां तक अगर आग पहुंच जाती तो दुकानदारों का आर्थिक नुकसान बहुत ज्यादा होता।

शनिचरी में सब्जी बेचने का काम करने वाली ज्योति कछवाहा ने बताया कि आग लगी तब वह रास्ते में ही थीं। लेकिन घटना से कुछ मिनट पहले ही उनके परिजन सब्जी मंडी से होकर गए थे तब ऐसा कुछ नहीं था। अचानक से आग कैसे लग गई यह समझ में नहीं आ रहा।

1
Back to top button