भारत में इस साल बर्ड फ्लू से हुई पहली मौत, 12 साल का एक बच्चा हुआ था ग्रसित

मरीज का इलाज कर रहे दिल्‍ली एम्‍स के पूरे स्टाफ को आइसोलेट कर दिया गया

नई दिल्ली: दिल्‍ली एम्स में भर्ती बोर्ड फ्लू से ग्रसित 12 साल के एक बच्चे की मौत हो गई. लड़के को दो जुलाई को निमोनिया और ल्यूकेमिया की शिकायत के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था और 12 जुलाई को उसकी मौत हो गई. उन्होंने बताया कि उपचार के दौरान उसकी कोविड-19 और इन्फ्लूएंजा की जांच की गयी.

एक सूत्र ने कहा, ‘उसके सेंपल में कोविड-19 की पुष्टि नहीं हुई. सेंपल में इन्फ्लूएंजा संक्रमण मिला. नमूने को नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी, पुणे भेजा गया, जहां उसमें H5N1 एवियन इन्फ्लूएंजा के संक्रमण की पुष्टि हुई.”

सूत्र ने बताया कि मामले का विवरण राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र (एनसीडीसी) को भेज दिया गया है और उनकी टीम ने संपर्क में आए लोगों की तलाश शुरू कर दी है. लड़का दिल्ली का रहने वाला नहीं था.

बर्ड फ्लू बीमारी एवियन इन्फ्लूएंजा वायरस H5N1 के कारण होती है, जिसकी चपेट में आकर पक्षी दम तोड़ ही देते हैं. साथ ही यह इंसानों के लिए भी बेहद खतरनाक है. इंसानों में भी इस वायरस की चपेट में आने के बाद बेहद गंभीर मामले देखे गए हैं लेकिन मौत के मामले कम नजर आते हैं. ऐसे में इस साल दिल्ली एम्स में बर्ड फ्लू की वजह से यह पहली मौत दर्ज की गई है.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button