पहली भारतीय महिला,अंटार्कटिका में एक साल रहकर बनाया रिकॉर्ड

ISRO की 56 वर्षीया महिला वैज्ञानिक ने अंटार्कटिका में एक साल रहकर अपने नाम एक रिकार्ड दर्ज कराया है।

ISRO की 56 वर्षीया महिला वैज्ञानिक ने अंटार्कटिका में एक साल रहकर अपने नाम एक रिकार्ड दर्ज कराया है। मंगला मणि दुनिया के सबसे ठंडे स्थान में 403 दिन से ज्यादा समय बिताने वाली पहली भारतीय महिला बन गई है। महिला वैज्ञानिक 23 सदस्यों के जांच दल के साथ नवंबर 2016 में अंटार्कटिका स्थित भारत के रिसर्च स्टेशन भारती गई थीं। इस दल में वह अकेली महिला थीं।

मंगला ने एक इंटरव्यू में बताया कि वह पिछले साल दिसंबर में अपने मिशन को पूरा करके वापस लौटी हैं। उन्होंने अपने अनुभव को सांझा करते हुए बताया कि अंटार्कटिका मिशन बहुत बड़ी चुनौती थी। वहां का मौसम बहुत सर्द और कठोर है। उन्हे अपने रिसर्च स्टेशन से निकलते समय काफी सतर्क रहना पड़ता था। वह दो से तीन घंटे से ज्यादा बाहर नहीं रह सकते थे, इसके बाद उन्हे गर्मी लेने के लिए वापस स्टेशन में लौटना पड़ता था।

मंगला ने बताया कि उनकी टीम के सदस्य काफी सहयोगी थे उन्होंने रिसर्च स्टेशन पर मेरा जन्मदिन भी मनाया था। इस कठिन मिशन में जाने से पहले मंगला और उनकी टीम की शारीरिक और मानसिक जांच हुई थी। वहीं उनकी शारीरिक क्षमताओं को जांचने के लिए उन्हें उत्तराखंड के ऑली और बद्रीनाथ ले जाया गया।

मंगला ने बताया कि यह टेस्ट हमारे शरीर को अंटार्कटिका की भीषण सर्दी के लिए तैयार करने के लिए किए गए थे। इसके अलावा इस टेस्ट के दौरान हमारे दल में कठिन समय में टीम भावना के साथ काम करने की कला भी विकसित की गई।मंगाल और उनकी अंटार्कटिका में भारत के रिसर्च स्टेशन पर सैटेलाइट्स के डेटा लेने गए थे।

advt
Back to top button