पिता का गला रेताकर करने लगा फेवीक्विक से जोड़ने की कोशिश

इकलौते बेटे ने बुजुर्ग पिता का पहले गला रेता फिर फेवीक्विक से चिपकाने की कोशिश की। बूढ़े बाप की चीख बाहर न सुनाई दे इसलिए टीवी और म्यूजिक सिस्टम ऑन कर दिया। इसके बाद घर में ताला बंदकर पिता को लहूलुहान हालत में तड़पता छोड़कर भाग निकला।

पहले पिता का गला रेता, फिर फेवीक्विक से जोड़ने की कोशिश

इकलौते बेटे ने बुजुर्ग पिता का पहले गला रेता फिर फेवीक्विक से चिपकाने की कोशिश की। बूढ़े बाप की चीख बाहर न सुनाई दे इसलिए टीवी और म्यूजिक सिस्टम ऑन कर दिया। इसके बाद घर में ताला बंदकर पिता को लहूलुहान हालत में तड़पता छोड़कर भाग निकला।

घटना की जानकारी पड़ोसियों को तीसरे दिन शनिवार की सुबह हुई। इसके बाद जख्मी रामदेव मिश्र (65) को जिला अस्पताल पहुंचाया गया जहां उनकी हालत गंभीर है। आरोपी बेटा जगदीश मिश्र (40) घटना के बाद से ही फरार है। बेरोजगार जगदीश वर्ष 2005 में अपनी पहली पत्नी की भी हत्या कर चुका है।

दिल दहला देने वाली यह वारदात सोनहा थाना क्षेत्र के दरियापुर जंगल टोला के भैसहवा निवासी रेलवे के रिटायर्ड चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी रहे रामदेव मिश्र के साथ गुरुवार रात हुई। शनिवार को बिजली न होने और इन्वर्टर भी डिस्चार्ज होने के बाद रामदेव की चीख-कराह गांव की एक महिला ने सुनी तो अनहोनी की आशंका में उसने ग्राम प्रधान को इसकी जानकारी दी।

मौके पर पहुंचे ग्राम प्रधान के प्रतिनिधि महेंद्र पांडेय ने डायल 100 पर सूचना देकर पुलिस बुलाई। ताला तोड़ा गया तो भीतर रामदेव को मरणासन्न हाल में देख पुलिस और स्थानीय लोग सकते में आ गए।

तत्काल उन्हें भानपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया गया। यहां से डॉक्टरों ने जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया। जिला अस्पताल में उनका इलाज चल रहा है लेकिन हालत नाजुक बनी हुई है।

Back to top button