पांचवी विधानसभा का आज से पहला सत्र, विधायकों की शपथ, स्पीकर का चुनाव

अंकित मिंज

बिलासपुर। छत्तीसगढ़ की पांचवी विधानसभा का पहला सत्र 4 जनवरी से शुरू होगा। पहले दिन नवनिर्वाचित विधायकों को प्रोटेम स्पीकर रामपुकार सिंह शपथ दिलाएंगे। दोपहर में विधानसभा अध्यक्ष के लिए निर्वाचन होगा।

इस पद के लिए सत्ताधारी कांग्रेस पक्ष के प्रत्याशी डॉ. चरणदास महंत ने अपना नामांकन दाखिल किया है। किसी अन्य दल की ओर से कोई नामांकन नहीं आया। माना जा रहा है कि डॉ. महंत सभी दलों की सहमति से निर्विरोध अध्यक्ष चुने जाएंगे।

नई सरकार का पहला सत्र

यह शीतकालीन सत्र कांग्रेस नेतृत्व वाली नई सरकार का पहला सत्र है। विधानसभा में 15 साल के अंतराल बाद बदला हुआ नजारा सामने आने वाला है। अब तक सत्तापक्ष की कुर्सियों पर भाजपा के विधायक काबिज होते थे, अब वे कांग्रेस की पुरानी जगह पर मुख्य विपक्ष के रूप में सामने आएंगे।

दूसरे विपक्ष की भूमिका में होगा तीसरा दल

छत्तीसगढ़ विधानसभा में पहली बार तीसरे दल की भूमिका भी दिखेगी। विधानसभा चुनाव में जोगी-बसपा गठबंधन ने सात सीटें जीती हैं। विधानसभा में पहली बार तीसरा दल दूसरे विपक्ष की भूमिका में होगा।

नवनिर्वाचित विधायकों की शपथ के बाद विधानसभाध्यक्ष का निर्वाचन होगा।
महंत होंगे अध्यक्ष
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पूर्व केंद्रीय मंत्री तथा नवनिर्वाचित विधायक डॉ. चरणदास महंत विधानसभा अध्यक्ष होंगे।

उनका चुना जाना दलीय गणित के हिसाब से भी तय है। कांग्रेस ने राज्य की 90 में 68 सीटें जीती हैं।
भाजपा के हिस्से में 15 तथा जोगी बसपा गठबंधन के 7 विधायक जीतकर आए हैं। विधानसभाध्यक्ष के निर्वाचन के लिए भाजपा व जोगी बसपा गठबंधन भी महंत के पक्ष में सामने आ गया है।

0-7 जनवरी को राज्यपाल का अभिभाषण</p>

7 को विधानसभा का सत्र 4 तारीख को शुरू होने के बाद अगले दो दिन शनिवार, रविवार को बैठक नहीं होगी। 7 जनवरी को सत्र के दौरान राज्यपाल आनंदीबेन पटेल का अभिभाषण होगा। इसके साथ ही राज्य सरकार अपना पहला अनुपूरक बजट भी पेश करेगी। इसके बाद 11 जनवरी को सत्र समाप्त होने तक राज्यपाल के अभिभाषण पर चर्चा होगी।

1
Back to top button