छत्तीसगढ़

विकासखण्ड स्तरीय आदिवासी नृत्य प्रतियोगिता, पांच टीमों ने लिया हिस्सा

विधा-कर्मा और सुआ नृत्य की प्रस्तुतियां देकर सबका मन मोहा

भाटापारा: बलौदाबाजार के जनपद कार्यालय परिसर में विकासखण्ड स्तरीय आदिवासी नृत्य प्रतियोगिता का आयोजन किया गया, जिसमें विकासखण्ड के विभिन्न ग्रामों से आयी पांच टीमों ने हिस्सा लिया। यह कार्यक्रम नेशनल ट्राईबल डांस प्रतियोगिता 2019 के अंतर्गत किया गया।

इस कार्यक्रम में भाग लेने वालों ने आदिवासी नृत्य विधा-कर्मा और सुआ नृत्य की प्रस्तुतियां देकर सबका मन मोह लिया। इनमें देवरी की कर्मा पार्टी और कुकुरदी, कोलियारी, सलौनी और देवरी की सुआ पार्टी ने प्रतियोगिता में हिस्सा लिया।

शुभारंभ के अवसर पर जनपद पंचायत की अध्यक्ष सुलोचना यादव सहित अपर कलेक्टर जोगेन्द्र नायक, एसडीएम लवीना पाण्डेय, सहायक आयुक्त आदिवासी विकास राधेश्याम भोई उपस्थित होकर नृत्यदलों का उत्साहवर्धन किया।

प्रदर्शन के आधार पर इनमें करमा नृत्य दल देवरी को प्रथम स्थान, सुआ नृत्य दल कुकरदी को दूसरा और सुआ नृत्य दल कोलियारी को तीसरा स्थान हासिल हुआ। अखिल भारतीय गोण्डवाना गोण्ड महासभा के सदस्य डाॅ. एल.एस.धु्रव ने राज्य सरकार द्वारा ट्राईबल फेस्टिवल आयोजित करने के निर्णय की सराहना की।

उन्हांेने कहा कि आधुनिकता की दौड़ में आभा खो रही आदिवासी परम्परा और संस्कृति को जीवित रखने की मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का अच्छा प्रयास है। उन्होंने प्रतियोगिता में शामिल नृत्यदलों को नगद पुरस्कार से सम्मानित किया।

इस क्रम में अगली खण्ड स्तरीय प्रतियोगिता 6 नवम्बर को भाटापारा, 8 नवम्बर को सिमगा, 11 नवम्बर को कसडोल, 13 नवम्बर को बिलाईगढ़ और 14 नवम्बर को पलारी में प्रतियोगिता आयोजित होगी।

प्रतियोगिता में हिस्सा लेने के इच्छुक नृत्य दल संबंधित जनपद पंचायत कार्यालय में सम्पर्क कर सकते हैं। प्रतियोगिता मूल रूप से आदिवासी नृत्य शैलियों पर आधारित होगी। कलाकार दलों के चयन में परम्परागत पहनावा, नृत्य की मौलिकता, परम्परागत वाद्य यंत्रों आदि विशेष तत्वों का ध्यान रखा जाएगा।

Tags
Back to top button