नियमितिकरण योग्य प्रकरणों को एक माह के भीतर निराकृत करें: कलेक्टर

जिला कलेक्टोरेट के सभाकक्ष में समिति की बैठक ली

रायपुर: कलेक्टर डॉ. बसवराजु एस. ने अनाधिकृत निर्माण के नियमितकरण के लिए जिला कलेक्टोरेट के सभाकक्ष में समिति की बैठक ली। बैठक में पूर्व में समिति द्वारा 17 एवं 24 सितंबर को नियमितिकरण के लिए प्रस्तुत प्रकरणों का समीक्षा किया गया।

2419 प्रकरणों पर समिति द्वारा समीक्षा की गई

ज्ञात हो कि 17 सितंबर को कुल 1838 और 24 सितंबर को कुल 1169 प्रकरण नियमितिकरण के लिए प्रस्तुत किए गए थे। इसी तरह आज 2419 प्रकरणों पर समिति द्वारा समीक्षा की गई। कलेक्टर डॉ. बसवराजु एस. ने कहा कि नियमितिकरण योग्य प्रकरणों को एक माह के भीतर अनिवार्य रूप से निराकृत किया जाना है। उन्होंने आज जो प्रकरण समिति के समक्ष आए हैं तथा जिन प्रकरणों को निरस्त किया गया है।

ऐसे प्रकरणों का पुनः समीक्षा कर प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने सभी जोन कमिश्नरों को निर्देशित किया है कि सप्ताह में कम से कम तीन बैठक करें तथा शासन द्वारा निर्धारित समय-सीमा में निराकृत करें। बैठक में अनुपस्थित जोन कमिश्नरों के लिए गंभीर नाराजगी व्यक्त की तथा आगामी 3 दिवस पश्चात आयोजित बैठक में अनिवार्य रूप से उपस्थित होने के निर्देश दिए।

अनाधिकृत निर्माण के लिए चलाए जा रहे अभियान के लिए बैठक में कलेक्टर डॉ. बसवराजु एस. ने निर्देशित किया कि भवनों के नियमितिकरण के लिए मास्टर प्लान के अनुरूप नक्षा आवश्यक है। जिन भवनों का नियमितीकरण किया जाना है, उसके बारे में निरीक्षणकर्ता स्पष्ट रूप से अभिमत प्रस्तुत करें तथा नियमितिकरण की कार्यवाही में तेजी लायी जाए।

इसी तरह गैर आवासीय भवनों का वाहनों की पार्किंग व्यवस्था होने पर नियमितीकरण किया जाएगा। आवासीय एवं व्यावसायिक भवनों के नियमितीकरण के लिए सड़कों की चौड़ाई शासन द्वारा अलग-अलग निर्धारित की गई है। निर्धारित मापदंड पूरा होने पर ही नियमितीकरण किया जा सकेगा।

ऐसे आवासीय भवन जो सड़क की सीमा में नही आते है उनका नियमितीकरण किया जाएगा। बैठक में नगर एवं ग्राम निवेश के संयुक्त संचालक संदीप बांगड़े, नगर निगम के अधिकारी सहित समिति के अन्य सदस्य उपस्थित थे।

1
Back to top button