Uncategorized

हाइड्रेटिंग मेकअप से छिप जाएंगी चेहरे की झुर्रियां पार्टी में दिखेंगी जवां

हाइड्रेटिंग मेकअप

यदि मेकअप को सही तरह से प्रयोग किया जाये तो बढ़ती उम्र की निशानियों जैसे रिंकल्स, फाइन लाइन्स, एज स्पॉट्स और सन डैमेज को छिपाया जा सकता है और आपकी सर्वश्रेष्ठ खूबियां उभारी जा सकता है।

हाइड्रेटिंग प्रापर्टीज वाला मेकअप एजिंग त्वचा के लिये बेहतर कारगर होता है जो आसानी से सूख जाता है। एजिंग आपकी त्वचा पर रिंकल्स, फाइन लाइन्स, एज स्पॉट्स और सन डैमेज के रूप में अपनी छाप छोडती है।

यदि मेकअप को सही तरह से प्रयोग किया जाये तो ये खामियां छिपाई जा सकती हैं आपकी सर्वश्रेष्ठ खूबियां उभारी जा सकती हैं और आपकी दिखावट को कुछ साल पीछे ले जाया जा सकता है। यहां एजिंग त्वचा के लिये मेकअप के बारे में ध्यान रखने लायक बातें बतायी गयी हैं।

हाइड्रेटिंग मेकअप

हाइड्रेटिंग प्रापर्टीज वाला मेकअप एजिंग त्वचा के लिये बेहतर कारगर होता है जो आसानी से सूख जाता है। जब मेकअप किसी ऑयली स्थान पर लगाया जाता है तो यह चेहरे पर लाइनों और क्रीजेज के बीच सेट हो जाता है और दिखावट सुधारता है। मेकअप को अच्छी तरह मॉइश्चराईज्ड त्वचा पर लगाना चाहिये। शुरू करने से पहले अपने चेहरे को धोयें और हल्के से सुखायें ताकि हल्की नमी बनी रहे।

मॉइश्चराईज़र को नम त्वचा पर लगाने से यह नमी को आपकी त्वचा पर बरकरार रखते हुए इसे मुलायम बनाये रखता है जिससे मेकअप बेहतर तरीके से किया जा सकता है। हैवी फाउंडेशन्स का उपयोग मत करें क्योंकि ये बाद में केकी दिखने लगते हैं इसके बजाय हाइड्रेटिंग फाउंडेशन का इस्तेमाल करें जो आपकी त्वचा को पोषण देने वाले विटामिनों से युक्त हल्का होता है।

उम्र छिपाने वाले मेकअप

एजिंग त्वचा सूखेपन और त्वचा के कुदरती पतलेपन के कारण अपनी चमक खो देती है। निस्तेज दिखने वाले चेहरे पर वार्म कलर्स में मेकअप नयी जान डालता है। ऐसे फाउंडेशन का उपयोग करें जिसका शेड आपकी त्वचा टोन से हल्का हो लेकिन आपके असली रंग में कुदरती तरीके से मिल जाये। आप अनुकूल शेड चुनने के लिये अपने रिस्ट एरिया में इसे लगाकर ट्राई कर सकते हैं। अपने डार्क सर्किल्स और स्पॉट्स को छिपाने के लिये लाइट कंसीलर का उपयोग करें। ब्लश का उपयोग इस तरह किया जाना चाहिये कि यह आपकी हाई चीकबोन्स को उभारे, इसलिये सही रूप देने के लिये इसे चीक्स के एपल्स पर ठीक से लगायें।

सौम्य रंग (सॉफ्टर ह्यूज)

सौम्य और कुदरती जैसे दिखने वाले रंगों का अपने चेहरे पर उपयोग करें क्योंकि ये आसानी से ब्लेंड हो जाते हैं और स्ट्राईकिंग नहीं लगते। एजिंग त्वचा मेलो कलर्स के साथ बेहतर तालमेल बिठा लेती है जो इसे रिफाइन्ड लुक देते हैं। तो चाहे ब्लश हो लिपस्टिक, आई शैडो या दूसरी चीजें मेलोअर टोन्स ही चुनें। ब्लैक मस्कारा या आईलाइनर का उपयोग तभी किया जाना चाहिये जब आपके बाल या हेयर कलर ग्रे न हों।

मुलायमियत बढ़ाएं

उम्र बढ़ने के साथ होंठ, खासकर ऊपरी होंठ पतला होता जाता है। होंठों का सिकुडना रोका नहीं जा सकता लेकिन सही तकनीक से इसे छिपाया जा सकता है। सही लिप कलर का चयन करें यहां “सॉफ्ट कलर्स” पर जोर देना ठीक होगा। पहले लिप बॉम लगायें यह लिपस्टिक को बेहतर दिखने में मददगार होगा, अपने होंठों की बनावट सही दिखाने के लिये लाइनर और लिप कलर का उपयोग करें। भरपूर प्रभाव देने के लिये अपने लिप कलर पर निचले होंठ के मध्य में ग्लॉस टच इस्तेमाल करें।<>

Tags

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button
%d bloggers like this: