राष्ट्रीय

आईजीआई एयरपोर्ट पर सुबह-सुबह पहुंच कर फ्लाइट अटेंडेंट्स ने दिया यह संदेश

यात्रियों के मोबाइल फोन में आरोग्य सेतु एप होना जरूरी

नई दिल्ली:कोरोना महामारी के बीच आईजीआई एयरपोर्ट पर सोमवार सुबह-सुबह पहुंच कर फ्लाइट अटेंडेंट्स ने यह संदेश देते हुए बता दिया कि कर्म से बड़ा कुछ भी नहीं है. आईजीआई एयरपोर्ट के टर्मिनल 3 से आज से डोमेस्टिक फ्लाइट्स शुरू हो गई हैं और फ्लाइट अटेंडेंट्स सुबह से ही अपनी ड्यूटी पर मुस्तैद थीं..

फ्लाइट अटेंडेंट अमनदीप कौर ने कहा कि कोरोना वायरस को लेकर हमें चिंता तो है लेकिन हमारे लिए काम सबसे पहले है. हमें एयरलाइंस की तरफ से पीपीई किट जैसे सुरक्षा उपकरण मिल गए हैं. एक और फ्लाइट अटेंडेंट ने कहा कि कोरोना वायरस की वजह से वह यात्रियों के साथ कम इंटरैक्ट करेंगी.

डोमेस्टिक फ्लाइट्स शुरू होने की वजह से एयरपोर्ट पर फूड और बेवरेजेस आउटलेट्स भी खोल दिए गए हैं. आंध्र प्रदेश और पश्चिम बंगाल को छोड़कर पूरे देश में दो महीने बाद आज से डोमेस्टिक फ्लाइट्स फिर से शुरू हुई हैं. पहले लॉकडाउन की शुरुआत से यानी 25 मार्च से यात्री विमान सेवा बंद थी.

वहीं, एयरपोर्ट्स को दिशा-निर्देश दिया गया है कि वह यह सुनिश्चित करेंगे कि विमान यात्रा के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जाए. सिटिंग अरेंजमेंट में सोशल डिस्टेंसिंग का विशेष ध्यान रखा जाए. जिन सीट्स का इस्तेमाल नहीं किया जा रहा है, उन्हें टेप या फिर किसी अन्य चीज से मार्क कर दिया जाए.

यात्रियों के मोबाइल फोन में आरोग्य सेतु एप होना जरूरी है. इसके अलावा चेकइन काउंटर्स पर भीड़ नहीं होनी चाहिए. एयरपोर्ट स्टॉफ को पीपीई किट, फेस मास्क सैनिटाइजर उपलब्ध कराना जरूरी है.

Tags
Back to top button