छत्तीसगढ़

भारी बारिश ने बस्तर में मचाई तबाही, जन-जीवन बेहाल

जगदलपुर. बस्तर संभाग में पिछले 48 घंटों से बारिश का सिलसिला भले ही थम गया है। लेकिन बारिश ने जो तबाही मचाई है। उससे हर वर्ग खासा परेशान है। जगदलपुर सहित संभाग के बाकी जिलों में हुई बारिश ने कहर ढाया है। निचले इलाकों में अभी भी बाढ़ की तस्वीरें साफ दिखाई दे रही हैं।

कई मकान बाढ़ में अब भी डूबे हुए हैं। बारिश के थमने के बाद भी बस्तर की प्राणदायिनी इंन्द्रावती का जलस्तर अभी भी नीचे नहीं उतरा है। जिस वजह से नदी किनारे रहने वाले लोगों को राहत नहीं मिल पा रही है। बारिश के चलते शहर के दर्जनों स्कूल बदहाल हो गए है। स्कूलों में पानी और गंदगी होने के चलते अघोषित तौर पर छुटटी का माहौल है।

पानी उतरने के बाद राजस्व और कृषि विभाग की टीम नुकसान के आंकलन की तैयारी कर रही है। अकेले जगदलपुर जिले में बारिश से करीब ग्यारह हजार हेक्टेयर खेत बाढ़ में डूबे हुए हैं। शहर की निचली बस्तियों में 65 मकान जमींदोज हो गए हैं। लोगों की घर गृहस्थी पूरी तरह से बाढ़ में दफन हो गयी है। लोग राहत शिविरों में दिन काट रहे हैं।

बस्तर संभाग में कुछ जगहों पर बारिश थमने और नदी का जलस्तर कम होने के बाद बंद हुआ यातायात शुरू हो गया है। लेकिन भारी बारिश ने जो तबाही बस्तर में मचायी है, उससे जन-जीवन अभी पटरी पर नहीं लौटा है। जिला

प्रशासन और एनडीआरएफ की टीम नदी किनारे बसे गांवों का दौरा कर उन जगहों पर जरूरी मदद पहुंचाने का काम कर रही है।

Tags
Back to top button