उत्तर प्रदेशराज्य

कांवड़ियों पर हेलीकॉप्टर से फूलों की वर्षा, एडीजी और यूपी पुलिस हुए आलोचना के शिकार

एडीजी प्रशांत कुमार ने कहा कि इस मामले को कोई भी धार्मिक रंग नहीं दिया जाना चाहिए।

मेरठ। उत्तर प्रदेश में कांवड़ियों के स्वागत के लिए पुलिस ने हेलीकाप्टर में चड़कर फूलों से स्वागत किया जिसके चलते यह मामला सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो गया। प्रशांत कुमार ने कांवड़ियों का हटके स्वागत करने के लिए हेलीकॉप्टर से फूलों की वर्षा की।

कांवड़ियों के इस स्वागत पर सोशल मीडिया पर उनकी जमकर खिल्ली उड़ रही है और इसपर दिनोंदिन विवाद भी बढ़ता जा रहा है। विवाद को बढ़ता देख प्रशांत कुमार ने आगे आकर सफाई दी है।

कुछ पुलिस अधिकारियों समेत मेरठ जोन के एडिशनल डायरेक्टर जनरल ऑफ पुलिस प्रशांत कुमार और मेरठ कमिश्नर अनिता मेशराम का एक वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है।

इस वीडियो में एडीजी और पुलिस कमिश्नर हेलीकॉप्टर से कांवड़ियों पर फूलों की वर्षा कर रहे हैं। ये वीडियो मंगलवार का बताया जा रहा है। कांवड़ियों पर इस तरह से गुलाबों की वर्षा करने पर एडीजी और उत्तर प्रदेश पुलिस को काफी आलोचना का शिकार होना पड़ा है।

सोशल मीडिया पर लोगों ने सवाल उठाए थे कि जनता के पैसों पर इस तरह का काम नहीं किया जाना चाहिए। वीडियो वायरल होने के बाद से विवाद काफी बढ़ गया और अब एडीजी ने सामने आकर इसपर सफाई दी है।

एडीजी प्रशांत कुमार ने कहा कि इस मामले को कोई भी धार्मिक रंग नहीं दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा, ‘इसे धार्मिक रंग न दें, फूलों की वर्षा लोगों के स्वागत के लिए की जाती है। प्रशासन सभी धर्मों की इज्जत करता है।’

एडीजी ने आगे कहा, ‘प्रशासन सभी धर्मों के त्योहारों में खुशी से हिस्सा लेता है। गुरुपर्ब, ईद, बकरीद और जैन त्योहारों में प्रशासन सक्रिय रूप से भाग लेता है।’ जहां एक तरफ प्रशासन कांवड़ियों के स्वागत के लिए उनपर फूलों की वर्षा कर रहा है, वहीं दूसरी तरफ कांवड़ियों का उत्पात थमने का नाम ही नहीं ले रहा है।

दिल्ली में गाड़ी को तोड़ कर पलटने के बाद बुलंदशहर में भी कांवड़ियों ने जमकर हंगामा किया। पुरानी रंजिश को लेकर हुई मारपीट में एक कांवड़ियां गंभीर रूप से घायल हो गया। हंगामे की सूचना पर पहुंची पुलिस की डायल 100 गाड़ी को भी कांवड़ियों ने तोड़ डाला।

Summary
Review Date
Reviewed Item
कांवड़ियों पर हेलीकॉप्टर से फूलों की वर्षा, एडीजी और यूपी पुलिस हुए आलोचना के शिकार
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags