कांगड़ा में ओलावृष्टि से किसानों की मेहनत पर फिरा पानी, धान की फसल बर्बाद

शाहपुर के धारकंडी में क्षेत्र में अधिकतर फसल खेतों में ही जड़ गई है

धर्मशाला। जिला कांगड़ा के विभिन्न क्षेत्रों में वीरवार सुबह ओलावृष्टि से धान की फसल को नुकसान हुआ है।

सबसे ज्यादा क्षति धर्मशाला व शाहपुर हलके में हुई है और इससे किसानों की मेहनत पर पानी फिर गया है। ओलावृष्टि से खनियारा, दाड़ी, शीला, बड़ोल, पासू, सकोह, चैतडू, झियोल, कनेड़, जटेहड़, सुधेड़, घियाणा व वरवाला में 70 फीसद फसल खराब हो गई है।

शाहपुर के धारकंडी में क्षेत्र में अधिकतर फसल खेतों में ही जड़ गई है। धारकंडी क्षेत्र के किसानों फौजा राम, करनैल सिंह, मेहर सिंह, दूलो राम, जय सिंह‍, छोटू राम, शक्ति चंद, निर्मल सिंह‍, मोती राम,

छोटू राम, दुर्गा राम, चतरो राम, ओंकार सिंह, मेघ सिंह, असली राम, जोगिंदर सिंह, प्रकाश चंद, अमी चंद, रतन चंद, थौगली राम ईश्वर दास, ईश्वर सिंह, पवन कुमार, चमन, चमेल सिंह, नवीन चंद व केवल ने बताया कि धान की फसल पूरी तरह से बर्बाद हो गई है।

उधर, कृषि विभाग के विषय विशेषज्ञ डॉ. हरमिंद्र सिंह कोटिया ने बताया कि सबसे ज्यादा नुकसान धारकंडी क्षेत्र में हुआ है। शीघ्र नुकसान की रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को भेजी जाएगी।

वहीं, कृषि विभाग के उपनिदेशक एनके धीमान का कहना है कि ओलावृष्टि से हुए नुकसान की रिपोर्ट सभी क्षेत्रों से मंगवाई जाएगी और उसके बाद ही आगामी कार्रवाई की जाएगी।

Back to top button