अन्ना कैंटीन में मिलने वाला भोजन अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनुरूप होगा

विजयवाड़ा।

आंध्र प्रदेश के सीएम एन. चंद्रबाबू नायडू ने बुधवार को तमिलनाडु की ‘अम्मा कैंटीन’ की तर्ज पर प्रदेश में अब ‘अन्ना कैंटीन’ का श्रीगणेश किया है।

इसका मकसद प्रदेश में गरीबों को सस्ता और पोष्टिक भोजन मुहैया कराना है। प्रदेश सरकार की योजना है कि इस कैंटीन को पूरे राज्य में चरणबद्ध रूप में खोला जाएगा। योजना के प्रथम चरण में 60 स्थानों पर कैंटीन का श्रीगणेश किया गया है।

राज्य में सत्तारूढ़ तेलगू देशम पार्टी ने अपने चुनावी वादों को निभाते हुए यह कदम उठाया है। टीडीपी ने 2014 अपने चुनावी वादे में राज्य की जनता से सस्ते भोजन का वादा किया था।

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू सरकार का कहना है कि दूसरे चरण में इस योजना को और विस्तार दिया जाएगा। दूसरे चरण में कुल 110 नगर पालिकाओं में अन्ना कैंटीन खोली जाएगी। इस चरण में कुल 143 कैंटीन खोली जाएगी।

अन्ना कैंटीन में मिलने वाला भोजन अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनुरूप होगा। कैंटीन को हिंदू मान्यताओं के अनुरूप निर्मित गया है। इसमें फूड कोट्स के अलावा इलेक्ट्रोनिक टोकन सिस्टम की सुविधा होगी। इस टोकन से यहां भोजन प्राप्त किया जा सकता है।

कैंटीन के अंदर वाई-फाई सुविधा होगी। साथ ही आम लोगों से फीडबैक, शिकायत और सुझाव के लिए कश्फर सिस्टम की भी व्यवस्था की है।

कैंटीन में भोजन सामग्री के लिए आंध्र प्रदेश सरकार ने अक्षय पात्रा फाउंडेशन के साथ एक करार किया है। यह फाउंडेशन अन्ना कैंटिन को भोजन मुहैया कराएगी। इस कैंटीन में प्रतिदिन दो लाख लोग भोजन ग्रहण कर सकते हैं।

Back to top button