राष्ट्रीय

खाद्य विभाग ने 2013 से 4.39 करोड़ फर्जी राशन कार्डों को किया रद्द

रद्द किए गए राशन कार्डों के बदले में सही और योग्‍य लाभार्थियों या परिवारों को नियमित तौर पर नए राशन कार्ड जारी

नई दिल्ली:देशभर में प्रौद्योगिकी समर्थित पीडीएस सुधार लाने के लक्षित अभियान के तहत एनएफएसए को लागू करने की तैयारी के दौरान सार्वजनिक वितरण व्‍यवस्‍था को आधुनिक बनाने और इसके परिचालन में पादर्शिता तथा कुशलता लाने के लिए कई कदम उठाए गए हैं।

इसके तहत खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण विभाग ने एनएफएसए के तहत सही लाभार्थियों की पहचान करने के लिए 2013 से 4.39 करोड़ फर्जी राशन कार्डों को रद्द किया। रद्द किए गए राशन कार्डों के बदले में सही और योग्‍य लाभार्थियों या परिवारों को नियमित तौर पर नए राशन कार्ड जारी किए गए है।

इन्हीं में से एक है फर्जी राशन कार्ड को रद्द करना। इसके अलावा फर्जी राशन कार्ड को रद्द करने के पीछे सरकार ने कई कारण दिए। राशन कार्डों और लाभार्थियों के डाटाबेस को डिजिटाइजेशन करना, राशन को आधार से जोड़ना, अपात्र या फर्जी राशन कार्डों की पहचान करना, डिजिटाइज किए गए डाटा के दोहराव को रोकना और लाभार्थियों के दूसरे जगह चले जाने या मौत हो जाने के मामलों की पहचान करने के लिए फर्जी राशन कार्डों को रद्द किया गया है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button