खाद्य सचिव ने की धान खरीदी की तैयारी की समीक्षा

कोचियों पर प्रशासन की पैनी नजर

रायपुर: खाद्य सचिव कमलप्रीत सिंह ने आज बलौदाबजार के जिला कार्यालय के सभाकक्ष में आयोजित अधिकारियों की बैठक में धान खरीदी की तैयारियों की समीक्षा की। सचिव सिंह ने बैठक में कहा की धान खरीदी में वास्तविक किसानों को फड़ में कोई दिक्कत नहीं होनी चाहिए। उन्होंने अवैध धान परिवहन करने वालों पर शख्त कार्रवाई करने को कहा।

सचिव सिंह ने कलेक्टर से कहा कि वे धान खरीदी के लिए तैनात दल को हमेशा सक्रिय सक्रिय रखने को कहा है। उन्होंने कहा कि वास्तविक किसानों के अलावा किसी और के पास नियमों के बाहर धान का अवैध संग्रहण नहीं होने चाहिए। उन्होंने किसानों से भी अपील की है कि वे अपने मकान में कोई कोचिया अथवा व्यापारी का धान ना रखें।

राज्य शासन किसानों का धान 2500 रुपये क्विन्टल में खरीदी कर उनकी आर्थिक दशा को और ज्यादा मजबूत करने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि धान खरीदी इस बार एक दिसम्बर से शुरू होगी। उन्होंने कहा कि धान खरीदी में समिति प्रबन्धकों की प्रमुख भूमिका होती है। इस बार ऐसा सॉफ्टवेयर विकसित किया गया है कि कोई भी गड़बड़ी को यह पहचान कर तुरन्त जिले के कलेक्टर-एसपी को अलर्ट कर देगी। उन्होंने सहकारिता विभाग के उप पंजीयक को इन पर पैनी निगाह रखने को कहा है।

कलेक्टर कार्तिकेय गोयल ने धान खरीदी के लिए की गई अब तक की तैयारियों की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि इस साल एक लाख 54 हजार 841 किसानों ने एक लाख 88 हजार 467 हेक्टेयर रकबे का पंजीयन कराया है। पिछले साल की अपेक्षा इस साल 25 हजार ज्यादा किसानों ने पंजीयन कराया है। इतने किसानों का लगभग 20 हजार हेक्टेयर रकबा का नया पंजीयन किया गया है।

खरीदी कार्य की पर्यवेक्षण एवं मॉनिटरिंग के लिए वरिष्ठ अधिकारियों की तैनाती कर दी गई है। खरीदी केंद्रों की साफ-सफाई का काम जारी है। इन केंद्रों पर किसानों को कोई असुविधा ना हो, इसका ध्यान रखा गया है।

Tags
Back to top button