छत्तीसगढ़

पचास साल तक देश लूटने वाली पार्टी को पैसों की तंगी कैसे : उपासने

इस्लामाबाद :

पाकिस्तान में नवगठित आर्थिक विकास परिषद (ईएसी) को शनिवार को एक बड़ा झटका उस समय लगा जब अमेरिका स्थित शिक्षाविद् डॉ़ आतिफ आर मियां को हटाए जाने से नाराज होकर इसमें शामिल अर्थशास्त्री डॉ. इमरान रसूल ने इस्तीफा दे दिया। डॉ. मियां को इसी सप्ताह प्रधानमंत्री इमरान खान की ओर से गठित 18 सदस्यीय ईएसी में शामिल किया गया था। वह अल्पसंख्यक अहमदी समुदाय के सदस्य हैं।

इसे लेकर कई कट्टरपंथी धार्मिक नेता नाराज बताए गए थे। इसके बाद संचार मंत्री फवाद चौधरी ने शुक्रवार को कहा कि सामाजिक स्तर पर किसी भी तरह के बंटवारे से बचने के लिए सरकार ने ईएसी से डॉ. मिया का नामांकन वापस लेने का निर्णय लिया है।

डॉ. रसूल जो लंदन यूनिवर्सिटी कालेज में अर्थशास्त्र के प्रोफेसर हैं, ईएसी से अपना नाम वापस लेते हुए ट्वीट किया, भारी मन से मैंने शनिवार को सुबह ईएसी से इस्तीफा दे दिया।

उन्होंने लिखा, डॉ. मियां को जिस तरह से परिषद से इस्तीफा देने के लिए कहा गया वह उससे बिल्कुल असहमत हैं। डॉ. रसूल ने डॉ. मियां को परिषद में शामिल किए जाने को लेकर कई ट्वीट किए। उन्होंने लिखा, पाकिस्तान की जरूरत के लिहाज से यदि परिषद में किसी शिक्षाविद् को शामिल किया जाना था तो वह आतिफ मियां ही बेहतर शख्स थे ।

Summary
Review Date
Reviewed Item
पचास साल तक देश लूटने वाली पार्टी को पैसों की तंगी कैसे : उपासने
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags
advt