परिवार और समाज की बेहतरी के लिए मधुर हो मां-बेटी के संबंध – प्रमिला उईके

नारायणपुर: मां-बेटी के संबंध में मधुरता होनी चाहिए। मधुर संबंध होने से परिवार के साथ-साथ अच्छे समाज का भी निर्माण होता है। उन्होंने कहा कि महिलाओं में अपार शक्ति होती है। परिवार और समाज के निर्माण में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका होती है। उक्त बातें मां-बेटी सम्मेलन में मुख्य अतिथि की आसंदी से सम्बोधित करते हुए जिला पंचायत की अध्यक्ष प्रमिला उईके ने कही।

उन्होनंे कहा कि मां-बाप अपनी बेटियों को अच्छे से पढ़ायें और एक जागरूक मां-बाप का उदाहरण पेश करें। कार्यक्रम का आयोजन जिला मुख्यालय स्थित कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय सुलेंगा में शुक्रवार को आयोजित हुआ। कार्यक्रम की अध्यक्षता अध्यक्ष नगर पालिका वेदवती पात्र ने की।

गहरू राम दुग्गा सरपंच, दीपक उईके उप सरपंच सुलेंगा विशिष्ट अतिथि थे। कार्यक्रम में जिला पंचायत के सीईओ अमृत विकास तोपनो, जिला समन्वयक राजीव गांधी शिक्षा मिशन आर.पी. मिरे उपस्थित थे।

वेदवती पात्र ने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि मां के संस्कार बेटी में आते है। पढ़ाई के साथ-साथ बेटी को अन्य कार्यों में भी निपूर्ण और जिम्मेदार बनायेें। मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत अमृत विकास तोपनो ने कहा कि आज हर क्षेत्र में महिलाआंे का योगदान बढ़ा है। उन्होंने माता-पिता को भी अपनी बच्चियों को सतत् ख्याल रखने की सलाह दी।

तोपनों ने शिक्षकों से भी आशा व्यक्त की कि वे वर्तमान शैक्षणिक स्थिति को देखते हुए अपना कार्य करंें और बालिकाओं को अच्छी शिक्षा दें। मां सरस्वती के चित्र पर दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ हुआ। आर.पी. मिरे ने मां-बेटी सम्मेलन और स्कूल की जानकारी के बारे में प्रकाश डाला।

Back to top button