विदेश मंत्री एस जयशंकर की इस कदम से दिवंगत नेता सुषमा स्वराज की यादें हुई ताजा

विदेश मंत्रालय ने महिला को भारत लाने की कवायद कर दी तेज

नई दिल्ली: कुवैत में फंसी एक महिला को हिंदुस्तान लाने सोशल मीडिया पर गुहार लगाई, जिसके बाद विदेश मंत्री एस जयशंकर ने एक्शन लेते हुए दिवंगत नेता और पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज की यादें को ताजा करते हुए महिला को मदद का भरोसा दिलाया है.

विदेश मंत्रालय ने महिला को भारत लाने की कवायद तेज कर दी है. यह महिला नौकरी दिलाने वाले एजेंटों के झांसे में आकर कुवैत तो पहुंच गई लेकिन वहां से अब उसे आने नहीं दिया जा रहा है. महिला की मदद के लिए आगे आए भारतीय दूतावास ने महिला को आश्रय गृह में रखा है.

महिला के मामले को देखिए

दरअसल ट्विटर पर एक शख्स ने विदेश मंत्री को ट्वीट करते हुए लिखा, डॉ एस जयशंकर, कुवैत में फंसी राजी जॉन स्टीफेन नाम की महिला के मामले को देखिए. वह गुरदासपुर की रहने वाली है. कुवैत में एजेंटों के चलते उसे वहां पर काफी तंग किया जा रहा है. महिला के परिवार ने मुझसे संपर्क किया है. महिला की स्वदेश वापसी की आशा और कामना करता हूं.

इस ट्वीट का जवाब देते हुए विदेश मंत्री ने कहा, राजी जॉन को कुवैत स्थित भारतीय दूतावास ने सुरक्षित रूप से एक महिला आश्रय गृह में रखा गया है. उनकी स्वदेश वापसी के लिए हम स्थानीय अधिकारियों के साथ काम कर रहे हैं.

इसी तरह की मदद एक और व्यक्ति ने भी लगाई. उन्होंने लिखा फुकेट में एक हादसे में मारी गई एक भारतीय महिला का शव स्वदेश लाने में मदद करने की गुहार लगाई है. इस पर मंत्री ने कहा, थाईलैंड स्थित हमारा दूतावास शोकाकुल परिवार के संपर्क में है और इस मुश्किल घड़ी में उन्हें हर सहायता मुहैया की जा रही है.

गौरतलब है कि पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को विदेश में फंसे भारतीयों की मदद के लिए हमेशा याद किया जाता रहेगा. जब कभी भी किसी भारतीय को विदेश में किसी भी तरह की दिक्कत होती थी उस समय सुषमा स्वराज उनकी मदद के लिए आगे आ जाती थीं और उनकी हर मुमकिन मदद करने की कोशिश करती थीं.

Back to top button