मनोरंजन

फॉरेंसिक विभाग ने रिपोर्ट के जरिये एनसीबी को दी जानकारी, करण जौहर के घर हुई थी पार्टी

2019 की पार्टी के वीडियो की फॉरेंसिक रिपोर्ट एनसीबी को मिली

मुंबई: एनसीबी को फॉरेंसिक विभाग ने रिपोर्ट में यह साफ कर दिया है कि करण जौहर के घर पार्टी हुई थी. इस खबर के अनुसार करण जौहर के घर पर हुई 28 जुलाई 2019 की पार्टी के वीडियो की फॉरेंसिक रिपोर्ट एनसीबी को मिली है.

फॉरेंसिक जांच में पता चला कि वीडियो के साथ कोई छेड़छाड़ नही की गई थी, अब इस वीडियो को लेकर एसआईटी हेड केपीएस मल्होत्रा और मुंबई जोन के डीडीजी अशोक जैन एनसीबी चीफ राकेश अस्थाना से मीटिंग कर आगे की रणनीति तय करेंगे.

हालांकि, इस पार्टी को लेकर करण जौहर ने एक बयान जारी किया था, इसमें वह कहते हैं, ‘कुछ न्यूज चैनल, प्रिंट/इलेक्ट्रॉनिक मीडिया और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म गलत और भ्रामक खबर दिखा रहे हैं कि 28 जुलाई, 2019 को मेरे घर पर आयोजित हुई एक पार्टी में ड्रग्स का सेवन हुआ था.

मैंने पहले ही 2019 में यह स्पष्ट कर दिया था कि मुझ पर लगे यह आरोप झूठे थे. आज मेरे खिलाफ दुर्भावनापूर्ण मुहिम चल रही है. मैं फिर से दोहराता हूं कि मुझ पर लगे आरोप पूरी तरह से निराधार और झूठे हैं. पार्टी में किसी भी तरह के ड्रग्स का सेवन नहीं किया गया था. मैं बताना चाहता हूं कि मैं ड्रग्स नहीं लेता हूं और न ही ऐसे किसी नशीले पदार्थ के सेवन को बढ़ावा देता हूं.

इन सभी निंदनीय और दुर्भावनापूर्ण लेखों, खबरों ने मुझे, मेरे परिवार और साथियों और धर्मा प्रोडक्शंस को बेवजह नफरत और मजाक का पात्र बना दिया है. मैं आगे बताना चाहूंगा कि कई मीडिया/न्यूज चैनल ऐसी खबरें प्रसारित कर रहे हैं, जिसमें क्षितिज प्रसाद और अनुभव चोपड़ा को मेरा करीबी सहयोगी बताया जा रहा है.

बताना चाहूंगा कि मैं इन व्यक्तियों को नहीं जानता हूं और न ही इनमें से कोई मेरा करीबी सहयोगी है. मैं और धर्मा प्रोडक्शंस इस बात के जिम्मेवार नहीं हैं कि कौन व्यक्ति अपने निजी जीवन में क्या करता है. इन आरोपों से धर्मा प्रोडक्शंस का कोई संबंध नहीं है.

मैं आगे बताना चाहता हूं कि अनुभव चोपड़ा धर्मा प्रोडक्शन के कर्मचारी नहीं हैं. वह हमसे सिर्फ दो महीने के लिए जुडे थे. पहले, वह नवंबर 2011 और जनवरी 2012 के बीच एक फिल्म के सहायक निर्देशक की हैसियत से जुड़े थे. फिर जनवरी 2013 में एक शॉर्ट फिल्म के सहायक निर्देशक थे.

इसके बाद वह कभी भी किसी दूसरे प्रोजेक्ट को लेकर धर्मा प्रोडक्शंस का हिस्सा नहीं थे. क्षितिज रवि प्रसाद को नवंबर 2019 में धर्माटिक एंटरटेनमेंट (धर्मा प्रोडक्शंस की सहयोगी कंपनी) के एक प्रोजेक्ट के लिए अनुबंधित किया गया था. वह इस प्रोजेक्ट से एक एग्जिक्यूटिव प्रोड्यूसर की हैसियत से जुड़े थे, जो आखिर में कभी पूरा नहीं हो पाया.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button