तीन पीढ़ियों से काबिज लोगों को वन भूमि के पट्टे दिए जाएंगे : बघेल

तातापानी संक्रांति परब में शामिल हुए मुख्यमंत्री

बलरामपुर:

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि सरगुजा क्षेत्र में वन भूमि के पट्टे के प्रकरण अधिक संख्या में निरस्त किये गये हैं, इसकी जांच के लिये अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिये गए हैं। उन्होंने कहा कि वन अधिकार अधिनियम के तहत् 13 दिसम्बर 2005 के पहले वन भूमि पर काबिज और तीन पीढ़ियों से रह रहे लोगों को वन भूमि का पट्टा दिया जायेगा इसके साथ ही सामुदायिक पट्टे भी दिये जाएंगे।

मुख्यमंत्री सोमवार को बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के ग्राम तातापानी में आयोजित तातापानी महोत्सव 2019 संक्रांति परब के अवसर पर विशाल जनसमूह को संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर स्थानीय विधायक की मांग पर तातापानी में 25 लाख रूपये की लागत से सामुदायिक भवन निर्माण कराने की घोषणा की।

इसके साथ ही उन्होंने बलरामपुर-अम्बिकापुर राष्ट्रीय राजमार्ग की शीघ्र मरम्मत कराने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए। उन्होंने वनांचल के रजबंधा से पिपराही मार्ग, चन्दौरा से चलगली मार्ग, बाहरचुरा से भीतरचुरा, पीपरपान से गाजर मार्ग में घाट कटिंग कराने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए।

मुख्यमंत्री बघेल ने इस अवसर पर विशाल जनसमूह को मकर संक्रांति की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं देते हुये सरगुजा संभाग के मतदाताओं से कहा कि आपने संभाग की सभी 14 विधानसभा सीटों पर जीत दिलाई है, जिसकी किसी को कल्पना भी नहीं थी। उन्होंने कहा कि जनता के सहयोग से तीन चौथाई बहुमत से छत्तीसगढ़ में पहली बार सरकार बनी है।

बघेल ने कहा कि मुख्यमंत्री की शपथ लेने के बाद सबसे पहला काम किसानों का कृषि ऋण माफ करने का कार्य किया गया और इसके लिये किसानों की कृषि ऋण की कोई सीमा निर्धारित नहीं की गई है। उन्होंने कहा कि अभी फिलहाल सहकारी बैंक और ग्रामीण विकास बैंकों के कृषि ऋण माफ किये गये हैं और राष्ट्रीयकृत बैंकों के फसल ऋण भी माफ किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ देश का पहला राज्य है जहां किसानों से 25 सौ रूपये क्विंटल समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी की जा रही है।

बघेल ने कहा कि छत्तीसगढ़ की राज्य सरकार, जनता की सरकार है और यह किसान, गरीब, मजदूर और सभी वर्गों की सरकार है और छत्तीसगढ़ के विकास के लिये सभी को मिलकर सरकार चलाना है। उन्होंने कहा कि सरगुजा संभाग में सड़कों की स्थिति बहुत खराब है, जिन्हें सुधारने की आवश्यकता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि बिजली बिल हाफ करने का भी काम किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि शराब बंदी अचानक नोटबंदी की तरह नहीं की जाएगी, बल्कि जनता से विचार-विमर्श कर और जनजागृति लाकर शराब बंदी की जाएगी। उन्होंने कहा कि अब शासकीय विभागों में जेम के माध्यम से नहीं बल्कि सीएसआईडीसी के माध्यम से कार्यालयीन उपयोग की सामग्रियों की खरीदी की जावेगी जिससे स्थानीय युवाओं को रोजगार मिलेगा और छत्तीसगढ़ में उद्योग धंधों का भी विकास होगा।

पंचायत एवं ग्रामीण विकास और लोक स्वास्थ्य परिवार कल्याण तथा चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव ने सरगुजा क्षेत्र में पहली बार मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के आने पर विशाल जनसमूह को करतल ध्वनि से स्वागत करने का आह्वान किया। उन्होंने बलरामपुर-रामानुजगंज क्षेत्र के लोगों को मकर संक्रांति की बधाई और शुभकामनाएं दी। रामानुजगंज विधायक बृहस्पत सिंह ने मकर संक्रांति के पावन अवसर पर तातापानी संक्रांति परब पर मुख्यमंत्री श्री भुपेश बघेल के आने पर उनका स्वागत करते हुये कहा कि छत्तीसगढ़ के इतिहास में पहली बार किसान का बेटा मुख्यमंत्री बना है।

उन्होंने कहा कि 25 सौ रूपये क्विंटल की दर से धान की खरीदी की जा रही है जिससे किसानों के जीवन में समृद्धि आएगी और उनके सपने पूरे होंगे। विधायक बृहस्पत सिंह ने स्थानीय समस्याओं की ओर मुख्यमंत्री का ध्यान आकर्षित करते हुए बलरामपुर-रामानुजगंज राष्ट्रीय राजमार्ग की मरम्मत कराने की मांग की।

इसके साथ ही तातापानी में सामुदायिक भवन का निर्माण कराने, वनांचल के रजबंधा से पिपराही मार्ग, चन्दौरा से चलगली मार्ग, बाहरचुरा से भीतरचुरा, पीपरपान से गाजर मार्ग में घाट कटिंग कराने की मांग की, जिससे दूरस्थ वनांचल क्षेत्रों में भी आवागमन की सुविधा उपलब्ध हो सके। इस अवसर पर बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के कलेक्टर हीरालाल नायक ने अतिथियों का स्वागत करते हुये प्रगति प्रतिवेदन प्रस्तुत किया।

इस अवसर पर सामरी विधायक चिंतामणी महाराज, सीतापुर विधायक अमरजीत भगत, लुण्ड्रा विधायक डॉ. प्रीतम राम, भटगांव विधायक पारसनाथ राजवाड़े, सांसद कमलभान सिंह, नगर निगम अम्बिकापुर के महापौर डॉ. अजय तिर्की, निगम सभापति शफी अहमद, उप महापौर अजय अग्रवाल, मुख्यमंत्री के संयुक्त सचिव टामन सिंह सोनवानी, सरगुजा संभाग के कमिश्नर एके टोप्पो, सरगुजा रेंज के पुलिस महानिरीक्षक हिमांशु गुप्ता, पुलिस अधीक्षक टीआर कोसिमा तथा विशाल जनसमूह उपस्थित थे।

तातापानी मंदिर में पूजा अर्चना की

मुख्यमंत्री ने तातापानी में आने के बाद सर्वप्रथम तातापानी स्थित शिव मंदिर में पूजा अर्चना कर बलरामपुर-रामानुजगंज जिले सहित छत्तीसगढ़ की जनता की खुशहाली की कामना की। इस अवसर पर पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री टीएस सिंहदेव, विधायक बृहस्पत सिंह, अमरजीत भगत ने भी मंदिर में पूजा अर्चना की।

Back to top button