राष्ट्रीय

पूर्व सीबीआई प्रमुख: प्रदीप कोनेरू से मुझे कोई भी पैसा नहीं मिला

पूर्व सीबीआई प्रमुख: प्रदीप कोनेरू से मुझे कोई भी पैसा नहीं मिला

पूर्व सीबीआई प्रमुख ए. पी. सिंह ने उद्योगपति कोनेरू से पैसे लेने के आरोप को खारिज कर दिया. कोनेरू के पिता पर लगे भ्रष्टाचार की जांच एंजेसी कर रही है. एपी सिंह पर उद्योगपति प्रदीप कोनेरू से भ्रष्टाचार के मामले में एजेंसी की जांच का सामना कर रहे उनके पिता की मदद करने का आरोप है.

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की शिकायत पर आधारित मीडिया रिपोर्टों में कहा गया है कि मांस निर्यातक मोइन कुरैशी ने फरवरी 2012 में प्रदीप कोनेरू से कहा था कि वह सीबीआई में चल रहे उनके पिता राजेंद्र कोनेरू के मामले में धन लेकर मदद कर सकता है.

सिंह ने शुक्रवार को कहा कि सीबीआई इस मामले में एक फरवरी 2012 को पहले ही आरोपपत्र दायर कर चुकी थी. उसके बाद मामला अदालत में था, न कि एजेंसी के पास.
जब कोनेरू को जमानत मिल गई, तब वह पैसे क्यों देगा

उन्होंने कहा, ‘मैं इस बात से इनकार करता हूं कि कोनेरू ने मुझे 5.25 करोड़ रुपए दिए. मुझे 25 अक्टूबर 2012 और 30 नवंबर 2012 के बीच (प्राथमिकी में उल्लिखित) मोइन कुरैशी और उनके कर्मचारियों में से एक के बीच कुछ बीबीएमएस (ब्लैकबेरी संदेश) मिले.
उसमें किसी प्रदीप से धन मिलने का ब्यौरा है. इसके अलावा कुरैशी और कोनेरू के बीच इस तरह के किसी लेनदेन की जानकारी नहीं है.’

सिंह ने कहा कि यह तथ्य समझ से परे है कि जब राजेंद्र कोनेरू को सीबीआई के कड़े विरोध के बावजूद आंध्र प्रदेश उच्च न्यायालय ने अंतत: जमानत दे दी तो प्रदीप कोनेरू उसके लिए 5.25 करोड़ रुपए क्यों देगा.

विदेश यात्रा के दौरान होटल में नहीं, अपनी बेटी के घर रुका

उन्होंने कहा कि वह 2012 में केवल दो बार लंदन गए. एक बार मार्च में और एक बार नवंबर में जो इंटरपोल सम्मेलनों के आधिकारिक दौरों के लिए था.
सिंह ने कहा, ‘इस तरह की सभी यात्राओं में मैं लंदन में अपनी बेटी के पास रुका, तब भी जब मैं दूतावास के जरिए होटल में ठहरने का हकदार था.
इस अवधि में मैंने न तो भारत का और न ही विदेश का कोई निजी दौरा किया और सभी आधिकारिक दौरों में सरकार की ओर से यात्रा और ठहरने का ध्यान रखा जाता है

Summary
Review Date
Reviewed Item
पूर्व सीबीआई प्रमुख
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.