छत्तीसगढ़

पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने कलेक्टर बंगले के बाहर लगाया था डेरा

एनएमडीसी के रेस्ट हाउस में कमरा नहीं मिलने से नाराज

दंतेवाड़ा: राष्ट्रीय खनिज विकास निगम(एनएमडीसी) के रेस्ट हाउस में कमरा नहीं मिलने से नाराज जनता जोगी कांग्रेस छत्तीसगढ़ के प्रमुख और छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने कलेक्टर टोपेश्वर वर्मा के आवास के सामने देर रात अपना डेरा डाला।

देर रात उनकी मांग मान लिए जाने से उन्होंने अपना प्रदर्शन वापस लिया। जोगी का आरोप है कि कलेक्टर टोपेश्वर वर्मा ने उन्होंने एनएमडीसी के गेस्ट हाउस में रुकने नहीं दिया। जबकि एनएमडीसी के चेयरमैन बैजेन्द्र कुमार से उन्होंने कमरा मांग लिया था।

जोगी ने कहा भूपेश सरकार मुझसे डरती है उनको ऐसा लगता है कि मेरे यहां दंतेवाड़ा में रुकने से उनकी हार सुनिश्चित है। इसलिए सबसे पहले मेरे बेटे को गिरफ्तार करवाया और उसके बाद मेरे साथ यह बर्ताव कर रहे हैं लेकिन मैं यहां से जाने वाला नहीं।

इधर जिला निर्वाचन अधिकारी टोपेश्वर वर्मा का कहना है कि जिले में आदर्श आचरण संहिता लागू है जोगी जी को जेड प्लस सुरक्षा वर्तमान में उपलब्ध नहीं है अगर वह जेड प्लस श्रेणी में आते तो उन्होंने रुकने का इंतजाम कर सकते थे अगर मेरे बंगले के सामने जोगी जी यूं ही बैठे रहे तो उन्होंने जो भी उचित कानूनी कार्रवाई होगी वह होगी। देर रात जोगी रेस्ट हाउस पहुंचे।

Tags
Back to top button