PCC अध्यक्ष के गृह प्रवेश कार्यक्रम में शामिल हुए पूर्व CM जोगी

रायपुर। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष मोहन मरकाम के 29 नवंबर को राजधानी रायपुर के सिविल लाइन स्थित सर्किट हाउस के पास नए आवास बस्तर बाड़ा में गृह प्रवेश के मौके पर जहां प्रदेश के वर्तमान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सहित सरकार के मंत्रिमंडल के सदस्यों एवं प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पदाधिकारियों सहित आम कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भी पहुंचकर गृह प्रवेश की पीसीसी अध्यक्ष को शुभकामनाएं दी,

तो वही इन शुभकामनाओं में छत्तीसगढ़ प्रदेश के प्रथम मुख्यमंत्री एवं वर्तमान में जोगी जनता कांग्रेस के सुप्रीमो अजीत प्रमोद कुमार जोगी भी नजर आए तथा अजीत जोगी ने बकायदा पीसीसी अध्यक्ष के इस गृह प्रवेश के मौके पर उनके नए आवास पहुंचकर उन्हें बधाई दी तथा इस दौरान पीसीसी अध्यक्ष के निवास पर प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भी मौजूद थे एवं वर्तमान मुख्यमंत्री एवं पूर्व मुख्यमंत्री दोनों आमने-सामने हुए, तथा आमने- सामने टेबल पर बैठकर चर्चा भी की, उल्लेखित हो कि छत्तीसगढ़ प्रदेश में कांग्रेस की राजनीति में विधानसभा चुनाव 2018 के पूर्व जिस तरह से पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी एवं वर्तमान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के बीच जुबानी हमले चल रहे थे,

एवं जिस तरह से आपस में तकरार देखी गई एवं इस तकरार के बाद अजीत जोगी की पार्टी ने विधानसभा चुनाव में अनेको कई सीट पर चुनाव लड़ा, जोगी जनता कांग्रेस को अपेक्षाकृत परिणाम तो हासिल नहीं हुए किंतु इसके बावजूद लगभग सात-आठ सीटों पर जेजेसी ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराई, सरकार कांग्रेस की बनने के बाद प्रदेश में एवं कांग्रेस की राष्ट्रीय राजनीति में भी इस बात को लेकर कयास लगाए जा रहे थे कि अजीत जोगी की पुनः घर वापसी हो सकती हैं, तथा राष्ट्रीय स्तर पर उनकी घर वापसी का प्रयास भी किए जाने की चर्चाएं जोरों से थी।

किंतु छत्तीसगढ़ प्रदेश के मुखिया मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की ओर से इस बात को लेकर किसी भी प्रकार की टिप्पणी नहीं की गई किंतु 29 नवंबर को पुनः पीसीसी अध्यक्ष के गृह प्रवेश के मौके पर पहुंचे अजीत जोगी को लेकर पूरे छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की राजनीति में चर्चाओं का बाजार गर्म है, तथा लोग तरह-तरह के कयास लगा रहे हैं कुछ लोगों का कहना है कि आने वाले नगरीय निकाय के चुनाव या की त्रिस्तरीय पंचायत के चुनाव में हो सकता है अजीत जोगी अपनी पार्टी के साथ कांग्रेस में विलय कर ले या की कांग्रेस एवं जोगी जनता कांग्रेस के बीच कुछ राजनीतिक विषयों को लेकर आपसी समन्वय बन जाए, अब यह तो समय ही बताएगा कि अजीत जोगी का पीसीसी अध्यक्ष के गृह प्रवेश के मौके पर जाना और बधाई देना कौन से नए राजनीतिक संकेतों की ओर इशारा कर रहा है।

Back to top button